दरंग जिले के व्यावसायिक केंद्र खारुपेटिया की मांगी देवी सुराणा सड़क पूर्व से ही जलजमाव की समस्या से त्रस्त थी और बिना किसी योजना के पक्की सड़क निर्माण ने इस समस्या को और भी  जटिल बना दिया है। लोगों का कहना है  कि जब सड़क टूटी हुई थी तब सड़क पर पानी होता था और घर सूखा होता था, लेकिन अब सड़क पर पानी नहीं है लेकिन घर पानी में डूबा हुआ है। लगभग चार वर्ष पहले इस सड़क का पाॅवेल ब्लाॅक से निर्माण किया गया था। सड़क निर्माण के समय में ही स्थनीय लोगों ने खारुपेटिया नगर समिति से सड़क निर्माण के पूर्व नाला निर्माण के बारे में आवेदन किया था, लेकिन नगर समिति ने आम जनता की मांगों को अनसुना कर दिया।


परिणाम स्वरूप पिछले चार वर्षों से स्थानीय लोग कृत्रिम जलजमाव की समस्या से जूझ रहे हैं। लोगों को करीब दो फीट गंदे पानी होकर पक्की सड़क से गुजरना पड़ता था। इसी को लेकर पिछले चार वर्षों से स्थानीय लोग नगर समिति के चक्कर लगा कर नाला निर्माण करने की गुजारिश कर रहे हैं, लेकिन बार-बार असफल होने के पश्चात और पिछले कई वर्षों से गंदगी भरे जलजमाव से परेशान होकर सैकड़ों महिलाओं ने आज आंदोलन का रुख अख्यितायर कर लिया। आज सैकड़ों महिलाओं ने जलजमाव वाली सड़क पर इकट्ठा होकर खारुपेटिया नगर समिति के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और वार्ड पार्षद के विरुद्ध भी नाराजगी व्यक्त की। महिलाओं ने बताया कि नगर की यह नतून पट्टी जाने वाली सड़क सबसे व्यस्त सड़कों में से एक है। इसी सड़क के किनारे हनुमान धर्मशाला, के साथ साथ विद्यालय भी हैं, कोई रिक्शा या ठेला इस रास्ते से नहीं जाता।


अंत में महिलाओं ने भाजपा नेतृत्वाधीन नगर समिति को चेतावनी देते हुए कहा कि पूरी काॅलोनी भाजपा समर्थक हैं। नगर समिति भाजपा नेतृत्व में है और राज्य और केंद्र सरकार भी भाजपा की है। इसके बाद भी अगर एक साधारण- सी समस्या का समाधान नहीं होना लज्जाजनक है। अंत में उन्होंने नगर समिति की अध्यक्ष से तत्काल इस समस्या का समाधान करेत हुए नाला निर्माण की मांग की ।