कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मेघालय में चुनाव प्रचार की शुरुआत करते हुए राज्य में चर्चों को पैसे देने संबंधी भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के प्रस्ताव को लेकर मंगलवार को जमकर निशाना साधा।


कांग्रेस शासित मेघालय में वेस्ट जैनतिया हिल्स जिले के जोवाई में गांधी ने पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा, 'मैं यह सुनकर स्तब्ध हूं कि भाजपा राज्य की चर्चों को पैसे देने का प्रस्ताव दे रही है।'


गांधी ने राज्य में स्थित विभिन्न चर्चों, मंदिरों, मस्जिदों और गुरद्वारों जैसे धार्मिक संस्थानों के लिए 70 करोड़ रूपयें का पर्यटन पैकेज देने संबंधी केंद्रीय पर्यटन मंत्री के जे अल्फांसो की घोषणा के संदर्भ में यह बात कही।


उन्होंने कहा, 'आप पायेंगे कि भाजपा के पास बहुत धन है। इन दिनों उनके नेतृत्व को लगता है कि सब कुछ खरीदा जा सकता है।' कांग्रेस अध्यक्ष ने पार्टी उम्मीदवारों की जीत सुनिश्चित करने की कार्यकर्ताओं से अपील की।


उन्होंने कहा, 'नेशनल पीपुल्स पार्टी(एनपीपी) का वोट भाजपा के पक्ष में जायेगा लेकिन वे मेघालय का भविष्य बदल पाने में समक्ष नहीं होंगे।'


गांधी के साथ मुख्यमंत्री मुकुल संगमा, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सेलेस्टीन लिंगदोह और अन्य पार्टी नेता थे। गांधी ने एक अन्य कार्यक्रम में कहा कि उन्हें ऐसा लग ही नहीं रहा कि वह मेघालय में अपनी पार्टी का चुनाव प्रचार कर रहे हैं।


राजधानी शिलांग स्थित पोलो मैदान पर आयोजित संगीत महोत्सव में उन्होंने कहा, 'मैं यहां चुनाव प्रचार के लिए आया हूं लेकिन यहां के लोगों के प्यार और स्नेह के कारण ऐसा महसूस ही नहीं हो रहा है।'


उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर, विशेषकर मेघालय के लोगों से उन्हें हमेशा भलमनसाहत और स्नेह मिलता रहा है और यह उनके लिए बहुत महत्वपूर्ण है। उन्होंने आश्वस्त किया कि वह अगली बार राज्य के दौरे पर आयेंगे तो अधिक समय तक यहां रहेंगे।