दिल्ली की जामा मस्जिद में जुमे की नमाज के बाद हुए भारतीय जनता पार्टी की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा के खिलाफ प्रदर्शन अब खत्म हो गया है। मस्जिद में शुरूआत में कुछ लोग इकट्ठा हुए और प्रदर्शन करने लगे, वहीं अब इलाके में हालात सामान्य है। इस मसले पर दिल्ली जामा मस्जिद के शाही इमाम अहमद बुखारी ने बताया कि, बीती रात से मेरे पास सोशल मीडिया के माध्यम से खबरें आ रहीं थीं, प्रदर्शन और भारत बंद को लेकर। जामा मस्जिद के भी बाजार बंद करने की बात मुझसे कही, लेकिन हमारी तरफ से मना कर दिया गया, अचानक जुमे की नमाज के बाद प्रदर्शन की आवाज शुरू हो गई, प्रदर्शन करने वाले कौन लोग, कहां से आए इसकी जानकारी नहीं।

ये भी पढ़ेंः एक और बड़ी खुशखबरीः अब भारत से बस में घूम आएं विदेश, मोदी सरकार ने दिया ऐसा खास तोहफा


दिल्ली पुलिस को इनकी पहचान करनी चाहिए, किसी राजनितिक पार्टी से भी अगर ये लोग संबंध रखते हैं तो दिल्ली पुलिस कार्रवाई करे। जानकारी के अनुसार, मस्जिद में करीब 1500 लोग नमाज पढऩे आए और उसके बाद उनमें से कुछ लोगों ने आकर प्रदर्शन किया, हालांकि 15 से 20 मिनट तक प्रदर्शन चला और लोग उसके बाद अपने-अपने घरों की ओर बढ़ गए हैं। इस प्रदर्शन को लेकर पुलिस ने कोई इजाजत नहीं दी थी, फिलहाल पुलिस ने साफ कर दिया है कि स्थिति नियंत्रण में हैं और दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी।

ये भी पढ़ेंः सोशल मीडिया पर वायरल हुई आपत्तिजनक पोस्ट, जम्मू के तीन जिलों में बवाल, इंटरनेट बंद


इसके अलावा जामिया मिलिया इस्लामिया में भी प्रदर्शन हुआ जो कुछ देर बाद खत्म हो गया था। मस्जिद से तमाम लोगों ने नुपुर शर्मा की गिरफ्तारी की मांग उठाई और प्रद्रशनकारियों ने हाथों में पोस्टर और बैनर लेकर विरोध जताया। बीते दिनों पैगंबर मोहम्मद पर उनके विवादास्पद बयान के बाद से ही यह बवाल बढ़ता ही जा रहा है। देश विदेश में इस बयान की निंदा की गई, इसी के चलते बीजेपी ने उनके खिलाफ कार्रवाई भी की थी। इस मसले पर नूपुर सहित 33 लोगों के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने हेट स्पीच मामले में केस भी दर्ज किया है। नुपूर के खिलाफ भी एक मामला दर्ज किया गया है, वहीं दिल्ली पुलिस ने नूपुर को जान से मारने की धमकी मिलने की शिकायत दर्ज कराने पर सुरक्षा भी प्रदान की।