उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव की तारीख नजदीक आने के साथ ही आरोप- प्रत्यारोप को दौर शुरू हो गया है. आए दिन कभी गाने के रूप में तो कभी तंज कसते हुए सोशल मीडिया पर सभी पार्टी के नेताओं द्वारा एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाए जा रहे हैं. इसी क्रम में प्रियंका गांधी वाड्रा ने बेरोजगारी को लेकर बीजेपी सरकार पर निशाना साधा है.

उन्होंने कहा, सरकार की प्राथमिकता होनी चाहिए युवाओं के लिए जॉब्स लाए, लेकिन बीजेपी सरकार की प्राथमिकता है नागरिकों की जासूसी. महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि देश को युवा एजेंडा नहीं बल्कि रोजगार का रोडमैप चाहिए.

प्रियंका चुनाव प्रचार के दौरान कई बार बेरोजगारी के मुद्दे को उठाती रही हैं. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी युवाओं के साथ वर्चुअल तरीके से वार्ता की थी. इस दौरान भी उन्होंने युवाओं से बेरोजगारी के मुद्दे को लेकर बातचीत की और बीजेपी सरकार पर निशाना साधा. खास बात यह रही कि उन्होंने अपनी दादी और पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी का जिक्र किया और कहा कि कांग्रेस की सरकार आने पर युवाओं की नौकरियों के लिए एक टाइम टेबल बनाया जाएगा.

युवाओं से बातचीत के दौरान प्रियंका गांधी ने कहा कि जब रोजगार नहीं है, तो नौजवानों में गुस्सा होना जायज है. उन्होंने बीजेपी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि, राजनीतिक दलों को पता है कि आप बेरोजगार रहेंगे तो आप बहेंकेंगे. युवाओं को बेरोजगार रखने से राजनीतिक दलों को फायदा होता है. जातिवाद की राजनीति से पब्लिक का फायदा नही होगा. इससे आपको रोजगार नहीं मिलेगा.