बॉलीवुड एक्टर अक्षय कुमार की फिल्म ‘पृथ्वीराज’ आ रही है, जो कि एक ऐतिहाासिक फिल्म है। इस फिल्म को लेकर नई बात सामने आई हैं, फिल्म के लिए निमार्ताओं को 50,000 से अधिक पोशाकें बनानी पड़ीं और साथ ही इस फिल्म में शूटिंग के दौरान 500 विभिन्न प्रकार की पगडिय़ों का भी इस्तेमाल हुआ है।

ये भी पढ़ेंः 128 साल की दादी ने खोला अपनी उम्र का छिपा राज, कहा- अभी अपने को रखती है स्वस्थ


फिल्म को लेकर अक्षय कुमार कहते हैं, फिल्म को लेकर इतनी मेहनत कभी कभी हो पाती है, और इसमें हम सबने काफी मेहनत की है। हमारी फिल्म के हर तत्व जो सम्राट पृथ्वीराज चौहान के जीवन पर आधारित है, उन सभी को अत्यंत ईमानदारी, प्रामाणिकता और श्रद्धा के साथ पेश किया गया है। एक्टर ने आगे कहा है कि, ‘‘हमने फिल्म बनाते समय छोटी-छोटी बातों पर ध्यान दिया है क्योंकि हम चाहते थे कि यह बड़े पर्दे पर सम्राट पृथ्वीराज के जीवन की सबसे शानदार रीटेलिंग हो।’’

ये भी पढ़ेंः छुट्टियों में घूमने का बना रहे हैं प्लान तो हो जाएं सावधान, रेलवे ने निरस्त कर दी हैं 20 से ज्यादा ट्रेनें


फिल्म के निर्देशक चंद्रप्रकाश द्विवेदी कहते हैं, पृथ्वीराज जैसी फिल्म बनाने के लिए डिटेलिंग महत्वपूर्ण थी। फिल्म के लिए 500 अलग-अलग पगड़ी बनाई गई थीं। ये सभी राजाओं, जनता, लोगों द्वारा पहनी जाने वाली पगड़ी के प्रकार की प्रामाणिक प्रतिकृति थीं। उन्होंने कहा, सेट पर हमारे पास पगड़ी स्टाइल का एक विशेषज्ञ था जो हमारे अभिनेताओं द्वारा पहने जाने वाले इन पगडिय़ों की प्रक्रिया की देखरेख करेगा। वह आगे कहते हैं, फिल्म के लिए 50,000 से अधिक वेशभूषा एक कॉस्ट्यूम डिजाइनर द्वारा बनाई गई थी, जो अपनी टीम के साथ, विशेष रूप से राजस्थान से मुंबई में रहने और इन परिधानों को खरोंच से बनाने के लिए लाया गया था। उन्हें खुशी है कि उनके पास आदित्य चोपड़ा जैसा निमार्ता था, जो फिल्म के लिए उनके ²ष्टिकोण में विश्वास करते थे और इस तरह की कहानी को सबसे भव्य तरीके से बताने के लिए उनका पूरा समर्थन करते थे।