प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सपा का गढ़ कहे जाने वाले कन्नौज में रैली की। प्रधानमंत्री ने कांग्रेस और सपा के गठबंधन को लेकर मुलायम सिंह की नाराजगी का जिक्र करते हुए कहा कि अखिलेश को अभी अनुभव नहीं है,नेताजी तो जानते हैं।

3 मार्च 1984 को कांग्रेस ने मुलायम सिंह पर हमला करवाया था लेकिन उनके बेटे ने बाप पर गोलियां चलवाने वाली पार्टी से ही दोस्ती कर ली है। यूपी में भाजपा के तीन एमएलसी सीटें जीतने पर प्रधानमंत्री ने चुटकी लेते हुए कहा कि लोगों को आखिर ये साथ(कांग्रेस-सपा)पसंद क्यों नहीं आया। पीएम ने कहा,यूपी में राजनीति के मंच पर फिल्म चल रही है। इंटरवल के बाद फिल्म में दुश्मन मिल जाते हैं। यूपी की राजनीति में जानी दुश्मन मिल गए।

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि कांग्रेस के एक नेता यहां प्रचार करने आते हैं लेकिन उन्हें यह भी पता नहीं है कि आलू खेत में पैदा होता है या फैक्ट्री में।  कन्नौज में तीसरे चरण के तहत 19 फरवरी को वोटिंग है। पीएम मोदी ने कहा,कन्नौज के लोगों ने भाजपा को जिताने का मन बना लिया है। अगर आपने 2014 में भी ये आशीर्वाद दिया होता तो कितना अच्छा लगता। पूरे यूपी में लोगों ने भाजपा को विजयी बनाया लेकिन कुछ जगहों पर जहां दो कुनबे लड़ रहे थे,आपने कृपा कर दी।

अब वे दो कुनबे ही आपके सपनों को नुकसान पहुंचाते हुए सत्ता हथियाने को साथ आ गए हैं। मुलायम सिंह के छोटे बेटे प्रतीक यादव की लैम्बॉर्गिनी कार पर चुटकी लेते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि खुद को समाजवादी बताने वालों के पास तरह तरह की कारें हैं। पीएम मोदी ने कहा कि अंग्रेजी में यूपी का मतलब अप होता है लेकिन यहां शिक्षा,स्वास्थ्य और रोजगार समेत तमाम चीजें डाउन है। यहां से सपा की बहू सांसद है लेकिन उन्होंने अपने वादे पूरे नहीं किए। यहां त्रिपक्षीय दौड़ चल रही है। कांग्रेस का पैर सपा और बसपा दोनों के साथ बंधा है लेकिन तीन पैरों से दौड़ लगाकर दो पैर वालों को पछाड़ा नहीं जा सकता। पीएम मोदी ने कहा कि नोटबंदी के बाद ओडिशा,चंडीगढ़,गुजरात,राजस्थान,महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश में हम निकाय और पंचायत चुनावों में जीते हैं। इन लोगों ने कई महीनों तक ड्राम किया लेकिन कोई असर नहीं हुआ