राष्ट्रपति बनने के बाद कोविंद अपनी पहली तीन दिवसीय यात्रा पर पूर्वोत्तर के तीन राज्यों के दौरे पर हैं। जिसके तहत राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और उनकी पत्नी सविता कोविंद ने आज यहां नीलाचल पहाड़ी के ऊपर स्थित प्राचीन शक्तिपीठ कामाख्या मंदिर में पूजा-अर्चना की।


राज्यपाल जगदीश मुखी और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ राष्ट्रपति और उनकी पत्नी सुबह मंदिर पहुंचे और वहां करीब 45 मिनट रहे। उन्होंने देवी कामाख्या की पूजा की और कुमारी पूजा जैसे मंदिर के विभिन्न धार्मिक अनुष्ठान में हिस्सा लिया। कुमारी पूजा के लिए तीन लड़कियों का प्रबंध किया गया।


इसके बाद राष्ट्रपति उत्तर-पूर्व विकास समिति के उद्घाटन के लिए इंफाल चले गये। राष्ट्रपति कल सिलचर में नमामी बराक महोत्सव के समापन कार्यक्रम में शिरकत करेंगे और गुवाहाटी विश्वविद्यालय में एक स्वागत कार्यक्रम में शामिल होंगे ।