अपने ही दोस्त की हत्या के आरोप में कोलकाता से गिरफ्तार घोष ब्रदर्स मोटर्स प्राइवेट लिमिटेड के मालिक प्रतुल कुमार घोष को पलटन बाजार पुलिस ने आज कोलकाता से गुवाहाटी ले आई । पुलिस ने उसे न्यायालय में पेश किया, जहां से उसे दस दिनों की पुलिस रिमांड पर भेज दिया ।

 पुलिस का कहना है कि वर्ष 2016 के 4 फरवरी को अपने मालीगांव के दोस्त मृदुल ज्योति दास की घोष ने हत्या कर दी थी और उसे 5 तल्ले से नीचे फेंक दिया था । पहले तो मामला सुसाइड का लग रहा था । मृदुल के परिजनों ने इस संबंध में पलटन बाजार थाने में एक मामला दर्ज कराया था । 

मृदुल के परिजनों ने आरोप लगाया था कि वर्ष- 2016 के  4 फरवरी को देर रात घोष ने किसी काम के सिलसिले में मृदुल को पल्टन बाजार के कंटूर होटल में बुलाया । होटल के कमरा नं-508 में उसे ले जाकर वहां  2 व्यक्तियों के साथ मिलकर मृदुल की पिटाई शुरू कर दी । इससे पहले उसे काफी शराब पिला रखी थी । 

मृदुल को इतनी बुरी तरह से पीटा गया था कि उसके कमरे में ही प्राण-पखेरू उड़ गए  । प्रतुल कुमार घोष ने मृदुल के  शव को होटल के  पांचवे माले से नीचे फेंक दिया। मामला  आत्महत्या का लगे, जिसके लिए पूरे मामले को अमलीजामा पहनाया था । जाँच-पड़ताल के बाद पुलिस को यह तथा हाथ लगे कि मृदुल ने आत्महत्या  नहीं बल्कि उसकी हत्या की गई थी । मामले को आत्महत्या का रूप दिया गया था । 

पुलिस ने घोष की  गिरफ्तारी के लिए अभियान छेड़ दिया था, लेकिन पुलिस उसे गिरफ्तार नहीं कर पाई थी । पलटन बाजार थाने की पुलिस की टीम को यह सूचना मिली थी कि घोष कोलकाता के लाल बाजार स्थित अपने फ्लैट में छिपा  हुआ है । इस सुचना के आधार पर पलटन बाजार पुलिस को टीम कोलकाता के लिए रवाना हो गई । बीती रात पलटन बाजार पुलिस ने पश्चिम बंगाल  पुलिस की  मदद से लाल बाजार स्थित फ्लैट से  घोष को गिरफ्तार कर लिया था ।