देशभर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रचंड लहर पर सवार भारतीय जनता पार्टी राष्ट्रवाद, हिंदुत्व और नए भारत के मुद्दों पर लोकसभा चुनाव में ऐताहासिक जीत दर्ज करके लगातार दूसरी बात केंद्र में सरकार बनाने जा रही है। वहीं ठीक इसके विपरीत नगांव की सीट पर भाजपा की नरम पकड़ के चलते यह सीट उसके हाथ से निकल कर कांग्रेस के हाथ में चली गई और भाजपा के उम्मीदवार रूपक शर्मा को कांग्रेस के प्रद्युत बरदलै ने 16,752 मतों के अंतर से हराकर ऐतिहासिक जीत दर्ज की।

लोकतंत्र के इस उत्सव में जनता ने नगांव में भाजपा को 722972 वोट दिए तो कांग्रेस को 739724 वोट प्राप्त हुए। इसके अलावा आल इंडिया तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार शहदेव दास को 5875 वोट, पूर्वांचल जनता पार्टी सेक्युलर के उम्मीदवार अजगर अली को  3655, असम जन मोर्चा के साइफुल इस्लाम चौधरी को 3421, भारतीय गण परिषद के उम्मीदवार सुकांता मजूमदार को 2756, निर्दलीय प्रार्थी जाकिर हुसैन को 4315 मत प्राप्त हुए। साथ ही जनता ने 10757 मतों का इस्तमाल नोटा का बटन दबाकर किया। नगांव की लोकसभा सीट पर कुल 17,90,683 मतदाताओं में से 14,90,329 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया और 300354 ने अपने बहुमूल्य मताधिकार का इस्तेमाल नहीं किया। 

जमुनामुख में कांग्रेस को अच्छे खासे वोट मिले और इन इलाकों में भाजपा दो नंबर पर है। इस महत्वपूर्ण सीट पर भाजपा की हार का कारण बताने वालों ने कहा कि रूपक शर्मा ने पहले विधायक रहते हुए कोई खास काम नहीं किया और नगांव पौर सभा की ढुलमुल नीति और शहर के नालों, सड़कों के साथ ट्रैफिक जाम, जगह जगह कचरे का अंबार और जनता को समय नहीं देना इस हार का कारण बताया।