प्रदेश कांग्रेस ने अपने तीन नवनिर्वाचित लोकसभा सदस्यों का जोरदार अभिनंदन किया। इस मौके पर सभी ने मिलकर आगामी विधानसभा चुनाव जीतने के लिए सभी से जमीनी स्तर से कार्य का संकल्प लिया। हाल ही में संपन्न लोकसभा चुनावों में राज्य की चौदह में से तीन संसदीय सीटों से कांग्रेस प्रत्याशियों को जीत मिली है। प्रदेश कांग्रेस के पास एक दिन पहले भंग हुई सोलहवीं लोकसभा में भी तीन ही सदस्य थे। हालांकि इस दफे उसके दो निवर्तमान सांसद चुनकर नहीं आ सके। उनकी भरपाई नगांव और बरपेटा में हुई जीत से हो गई।


नगांव से पूर्व मंत्री और प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष प्रद्युत बरदलै, बरपेटा से जोनिया के विधायक अब्दुल खालेक और कलियाबर से गौरव गोगोई जीते हैं। राजीव भवन में आयोजित सम्मान समारोह में तीनों का स्वागत करते हुए लोकसभा चुनाव में अपेक्षित सफलता नहीं मिलने पर अफसोस जताया गया।


कलियाबर से दो बार जीते गौरव गोगोई ने कहा कि 2019 के चुनाव अभियान को ले उन्हें गौरव की अनुभूति भी हो रही है क्योंकि इसमें जनता के बीच जनता की समस्याओं को जानने के लिए जाने का अवसर मिला था। उनके मुताबिक सभी कांग्रेस कर्मियों ने सौ फीसदी प्रयास किए लेकिन अपेक्षित सफलताएं नहीं मिलीं। इस चुनाव के दौरान भाजपा की ओर से कई निजी आक्षेप भी लगाए गए। हालांकि उनकी ओर से वैसी कोई बात नहीं की गई।


नगांव से जीते प्रद्युत बरदलै ने कहा कि उन्हें ऐसी सीट से जीतने पर काफी गौरव की अनुभूति हो रही है, जहां बीस वर्षों से पार्टी को सफलता का इंतजार था। बरदलै ने भी कहा कि चुनाव के दौरान भाजपा, खासतौर से हिमंत विश्व शर्मा की तरफ से कई अपमानजनक आरोप लगाए गए। कई अन्य चुनौतियां भी इस चुनाव के दौरान सामने आईं लेकिन आखिरकार नगांव की जनता ने उन्हें भरपूर समर्थन दिया। उन्होंने अपनी जीत में पूर्व मंत्री रकीबुल हुसैन की बड़ी भूमिका का भी उल्लोख किया। भरोसा दिया कि कांग्रेस के तीनों सासंद अच्छे असमिया, अच्छे कांग्रेसी और अच्छे भारतीय के रूप में काम करेंगे।


असम विधानसभा में जोनिया से विधायक अब्दुल खालेक ने भी विचार जताए।त कहा कि यह काफी चुनौती भरा चुनाव था। सांप्रदायिक शक्तियां भी मुकाबले में थीं। एआईयूडीएफ प्रमुख मौलाना बदरुद्दीन अजमल का नाम लेते हुए उन्होंने गंभीर आरोप लगाए। कहा कि अजमल  ने पहले भी भाजपा के साथ मिलकर काम किया था और इस चुनाव में भी किया। उनका मानना है कि आगे भी अजमल भाजपा के एजेंट के तौर पर काम करेंगे। सम्मान समारोह में पूर्व मुख्यमंत्री डाॅ.तच भूमिधर बर्मन, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रिपुन बोरा, नेता  विधायक दल देवब्रत सइकिया, पूर्व मंत्री रकीबुल हुसैन ने भी विचार जताए। कार्यक्रम का संचालन महासचिव रंजन बोरा ने किया।