डिपार्टमेंट ऑफ पोस्ट ने ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों के लिए पब्लिक प्रॉविडेंट फंड (PPF), सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) समेत अन्य पोस्टल सेविंग्स स्कीम्स में निवेश करना आसान कर दिया है। डिपार्टमेंट की तरफ से दी गई एक जानकारी के मुताबिक, पोस्ट ऑफिस के ग्रामीण डाक सेवक ब्रांचों में चेक की सुविधा नहीं है। इसी को देखते हुए विड्रॉल फॉर्म (SB-7) के जरिए डिपॉजिट और अकाउंट खोलने की अनुमति दी गई है।

डाक विभाग के इस फैसले के बाद अब ग्रामीण डाक सेवक ब्रांच में आगामी डिपॉजिट और नए अकाउंट खोलने के लिए विड्रॉल फॉर्म (SB-7) के साथ सेविंग्स बुक पासबुक से ही काम हो जाएगा। इस फॉर्म के साथ 5,000 रुपये तक का डिपॉजिट किया जा सकेगा। यह नियम 5,000 रुपये तक लेकर नया पब्लिक प्रॉविडेंट फंड अकाउंट खोलने के लिए भी लागू होगा।

5,000 रुपये से ज्यादा डिपॉजिट करने के लिए डिपॉजिटर को विड्रॉल फॉर्म SB-7 के साथ पोस्ट ऑफिस सेविंग्स बुक पासबुक और पे-इन-स्लिप भी देना होगा। इसके अलावा संबंधित स्कीम के लिए SB/RD/SSA या PPF की पासबुक भी दिखानी होगी।

इसके बाद ग्रामीण डाक सेवक पोस्ट मास्टर विड्रॉल फॉर्म, पे-इन-स्लिप और पासबुक को चेक करेगा। इसके बाद डिटेल्स अपडेट करने के बाद ग्रामीण डाक सेवक ब्रांच के अकाउंट ऑफिस से डिपॉजिटर को पासबुक व रसीद प्राप्त करनी होगी।


बता दें कि पिछले सप्ताह ही केंद्र सरकार ने स्मॉल सेविंग्स स्कीम्स पर मिलने वाले ब्याज दर में कोई बदलाव नहीं करने का फैसला किया है। इसमें पब्लिक प्रॉविडेंट फंड और NSC समेत कई अन्य सेविंग्स स्कीम्स शामिल हैं। सरकार के इस फैसले का मतलब है कि अब इन स्कीम्स पर अक्टूबर-दिसंबर तिमाही के लिए मिलने वाले ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं होगा।

इस संबंध में वित्त मंत्रालय की तरफ से एक नोटिफिकेशन जारी किया गया, जिसमें ​वित्त वर्ष 2020-21 की तीसरी तिमाही में स्मॉल सेविंग्स स्कीम्स की ब्याज दरों के बारे में जानकारी थी। इस नोटिफिकेशन में बताया गया कि 31 दिसंबर तक के लिए इन स्कीम्स की ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया जाएगा।