अगर आपका भी PPF अकाउंट है तो यह खबर आपके काम की है। सरकार की तरफ से समय-समय पर तमाम जमा योजनाओं के न‍ियमों में बदलाव क‍िया जाता है। ये बदलाव कई बार बड़े होते हैं तो कई बार मामूली होते हैं। प‍िछले द‍िनों सुकन्‍या समृद्ध‍ि योजना में कई बदलाव हुए थे।


यह भी पढ़ें : अरुणाचल में शहीद हुए सूबेदार हरदीप सिंह, अब पंजाब सरकार परिवार को देगी एक करोड़ रुपए


PPF अकाउंट में आपका योगदान 50 रुपये के मल्‍टीपल में होना चाहिए। यह राश‍ि साल में न्‍यूनतम 500 रुपये या उससे ज्‍यादा होनी चाह‍िए। लेक‍िन पीपीएफ अकाउंट में जमा की गई राश‍ि पूरे साल में डेढ़ लाख रुपये से ज्‍यादा नहीं होनी चाह‍िए। इसके अलावा अब आप एक महीने में एक ही बार पीपीएफ अकाउंट में पैसे जमा कर सकते हैं।


PPF खाता खोलने के लिए अब फॉर्म ए (Form-A) की जगह फॉर्म-1 (Form-1) जमा करना होगा। 15 साल के बाद पीपीएफ खाते के व‍िस्‍तार के ल‍िए (जमा के साथ) मैच्‍योर‍िटी से एक साल पहले फॉर्म एच के बजाय फॉर्म-4 में आवेदन करना होता है।

बिना पैसे जमा किए भी आप अपने पीपीएफ अकाउंट को 15 साल के बाद जारी रख सकते हैं। इसमें आपके ऊपर पैसा जमा करने की बाध्‍यता नहीं होती। मैच्योरिटी के बाद यद‍ि पीपीएफ अकाउंट का विस्तार करने का ऑप्‍शन चुन रहे हैं तो एक वित्तीय वर्ष में आप एक बार ही पैसा न‍िकाल सकते हैं।

पीपीएफ में जमा रकम पर यद‍ि आप लोन लेते हैं तो ब्‍याज दर दो फीसदी से घटाकर एक फीसदी कर दी गई है। कर्ज की मूल राशि का भुगतान करने के बाद आपको दो से ज्‍यादा किस्तों में ब्याज चुकाना होगा। ब्याज की गणना हर महीने की पहली तारीख से होती है।

यह भी पढ़ें : 2023 चुनाव की तैयारियों जुटी पार्टियां, UDP में 7 विधायक शामिल होने की संभावना

आपको यद‍ि पीपीएफ अकाउंट पर लोन लेना है तो जब आवेदन करने की तारीख के दो साल पहले अकाउंट में उपलब्‍ध पीपीएफ बैलेंस के 25 फीसदी पर ही कर्ज ले सकते हैं। उदाहरण के ल‍िए आपने 31 मार्च 2022 को आवदेन क‍िया। इस तारीख से दो साल पहले यानी 31 मार्च 2019 को आपके पीपीएफ अकाउंट में यद‍ि 1 लाख रुपये थे तो आपको इसका 25 प्रत‍िशत लोन म‍िल सकता है।