बिहार में सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के प्रमुख घटक जनता दल यूनाइटेड (जदयू) में पोस्टर को लेकर विवाद थमता हुआ नजर नहीं आ रहा है। जदयू के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह के मंत्री पद की जिम्मेदारी संभालने के बाद पहली बार 16 अगस्त को पटना आने को लेकर उनके स्वागत में पार्टी के प्रदेश महासचिव और पूर्व विधायक अभय कुशवाहा की तरफ से राजधानी में कई प्रमुख जगहों पर नए पोस्टर लगाए गए हैं। 

इन पोस्टरों में पार्टी के नवनियुक्त राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं मुंगेर से सांसद राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह की तस्वीर तो इस बार लगाई गई है लेकिन पार्टी संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा इन पोस्टरों में अभी भी कहीं नजर नहीं आ रहे हैं। प्रदेश महासचिव कुशवाहा ने दो दिन पूर्व पार्टी के प्रदेश मुख्यालय के प्रवेश द्वार के साथ ही शहर के अन्य क्षेत्रों में केंद्रीय मंत्री सिंह के स्वागत के लिए जो पोस्टर लगवाया था उसमें पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह और संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा दोनों की तस्वीर को जगह नहीं दी थी। इस मामले के तूल पकडऩे पर जदयू कार्यालय के मुख्य प्रवेश द्वार पर लगे पोस्टरों को हटा दिया गया था। पूर्व विधायक ने अपने नए पोस्टरों में राष्ट्रीय अध्यक्ष सिंह की तस्वीर लगा कर अपनी आधी गलती सुधार ली है। हालांकि दो दिन पूर्व पोस्टर को लेकर मचे राजनीतिक वबाल पर प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा ने इसे प्रोटोकॉल के खिलाफ बताया था। माना जा रहा था कि प्रदेश महासचिव के खिलाफ पार्टी कार्रवाई कर सकती है लेकिन अभी तक इस दिशा में कुछ भी नहीं किया गया है। 

अब देखना होगा कि पार्टी संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष की तस्वीर पोस्टर में नहीं लगाए जाने पर प्रदेश नेतृत्व क्या रुख अख्तियार करता है। नए पोस्टर में एक तरफ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तो दूसरी ओर केंद्रीय मंत्री सिंह की तस्वीर नजर आ रही है। इसके अलावा राष्ट्रीय अध्यक्ष सिंह के साथ प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा, मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव, विजय चौधरी, श्रवण कुमार, मदन साहनी, शीला देवी और सुमित सिंह समेत कई अन्य नेताओं की तस्वीर लगी है। इस बीच पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और राज्यसभा सांसद वशिष्ठ नारायण सिंह ने जदयू में किसी भी तरह के विवाद को खारिज किया और कहा कि पार्टी में गुटबाजी नहीं चलती और ना ही इसे चलने दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष सिंह अनुशासन पसंद हैं और स्पष्टवादी तरीके से राजनीति करते हैं।