पोस्ट ऑफिस मंथली इंकम स्कीम जो आपके लिए रेगुलर बचत से लेकर रिटायरमेंट के समय को भी बेहतर बनाने के काम आ सकती है. यहां हम इसी स्कीम के बारे में आपको जानकारी दे रहे हैं. Post Office Monthly Income Scheme एक ऐसा निवेश का टूल है जो रेगुलर इनकम के लिए अच्छा विकल्प साबित हो सकता है.

यह भी पढ़े : Summer Special Train : रेलवे गर्मियों की छुट्टियों में इन रूट्स पर चलाएगा समर स्पेशल ट्रेन, चेक करें लिस्ट


इसमें 6.6 फीसदी की दर से सालाना ब्याज मिलता है और हर महीने कस्टमर्स को मंथली ब्याज या इनकम हासिल होती है. चाहें तो इसे रेगुलर इनकम प्लान के तौर पर देखें या वद्धावस्था के लिए पेंशन के तौर पर ले सकते हैं. इसमें मिल रहा इंटरेस्ट बचत खाते या फिक्स्ड डिपॉजिट से ज्यादा होता है.

पोस्ट ऑफिस मंथली इंकम स्कीम में एक कस्टमर कई खाते खुलवा सकता है.1000 रुपये की साधारण रकम से भी इंवेस्टमेंट शुरू किया जा सकता है. इसके लिए पोस्ट ऑफिस में सेविंग बैंक अकाउंट होना चाहिए.

यह भी पढ़े : इन 3 राशि वालों के नौकरी में स्थान परिवर्तन के बन रहे हैं योग, 29 अप्रैल तक तरक्की भी मिल सकती है


सभी खातों में कुल मिलाकर एक कस्टमर ज्यादा से ज्यादा 4.5 लाख रुपये ही जमा कर सकता है. पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम में ज्वाइंट खाते में अधिकतम 9 लाख रुपये (4.5+4.5 लाख रुपये) लगाए जा सकते हैं. 18 साल से ऊपर के सिटीजन ही खाता खुलवा सकते हैं. 10 साल से ऊपर के माइनर के गार्जियन या पेरेंट्स उसका खाता खुलवा सकते हैं. नाबालिग का खाता खुलने की सूरत में उसके बालिग होने पर खाता उसके नाम हो जाएगा.

यह भी पढ़े : Horoscope April 13 : इन राशि वालों को आज मिलेगी हर काम में सफलता, गणेश जी की अराधना करते रहें

इसमें पांच साल का लॉकइन पीरियड भी होता है पर जरूरत आने पर पहले पैसा निकाल भी सकते हैं, बशर्ते थोड़ा चार्ज या पेनल्टी लगेगी. खाता खुलवाने के 1 साल के भीतर पैसा निकाला तो स्कीम का फायदा नहीं मिल पाएगा. खाता खुलवाने के 1-3 साल के भीतर पैसा निकाला तो 2 फीसदी चार्ज लगाकर पैसा मिलेगा. 3-5 साल के भीतर पैसा निकाला तो 1 फीसदी पेनल्टी लगाकर पैसा वापस मिलेगा.