बेटी के घर में जन्म लेते ही माता-पिता उसके लिए ​पैसे जोड़ना शुरू कर देते हैं। भविष्य में यही पैसे उसकी शादी या पढ़ाई आदि में काम आते हैं, लेकिन एफडी समेत अन्य सेविंग स्कीम्स में घटते ब्याज दरों को देखते हुए पोस्ट ऑफिस की सुकन्या समृद्धि स्कीम में निवेश फायदेमंद हो सकता है। 10 साल से कम उम्र की बच्ची के लिए माता-पिता अकाउंट खुलवाकर उसका भविष्य संवार सकते हैं। इसमें महज 250 रुपए से निवेश शुरू किया जा सकता है। जबकि अधिकतम 1.5 लाख रुपये सालाना का निवेश कर सकते हैं।

इस पर मिलने वाला रिटर्न यानी ब्याज दर की हर तिमाही समीक्षा करती है। इस स्कीम में निवेश पर फिलहाल 7.6 प्रतिशत सालाना ब्याज दर के तौर पर रिटर्न मिल रहा है। इस स्कीम में रिटर्न के तौर पर मिला ब्याज टैक्स फ्री होता है। सुकन्या समृद्धि स्कीम में निवेश के लिए किसी भी पोस्ट ऑफिस में अकाउंट खुलवा सकते हैं। इसमें 15 साल तक निवेश करना होगा।

सुकन्या समृद्धि स्कीम में आमतौर पर आप पैसे तभी निकाल सकते हैं जब बेटी की उम्र 18 साल हो जाए या कम से कम 10वीं पास कर लें। जब आपकी बेटी की उम्र 21 साल हो जाएगी तब यह अकाउंट मेच्योर हो जाएगा। तब पूरी रकम निकाली जा सकती है। सुकन्या समृद्धि में अकाउंट एक परिवार की केवल दो बेटियों के नाम ही खुलवाया जा सकता है।

बेटी के 21 साल के होने पर अकाउंट मैच्योर हो जाएगा, तब इसकी मियाद पूरी हो जाएगी। अगर आप मैच्योरिटी से पहले इसे बंद कराना चाहते हैं तो बेटी की शादी उसके 18 साल पूरा होने अकाउंट क्लोज करा सकते हैं। इसके अलावा गार्जियन की मौत होने पर, जानलेवा बीमारी होने पर भी प्रक्रिया पूरी कर अकाउंट बंद करने की सुविधा मिलती है। सुकन्या समृद्धि स्कीम में बच्ची के बालिग होने तक खाते को उसके पैरेंट्स ऑपरेट कर सकते हैं।