सिक्किम की 32 विधानसभा सीटों के अलावा एक लोकसभा सीट के लिए मंगलवार शाम 5 बजे चुनाव प्रचार थम गया। यहां 11 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे।

सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट (एसडीएफ) के अध्यक्ष और मुख्यमंत्री पवन कुमार चामलिंग ने अपने पैतृक जिले, दक्षिण सिक्किम के जोरेटांग में एक 'विजय संकल्प रैली' को संबोधित किया।

विपक्षी सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा (SKM) के अध्यक्ष पी. एस. गोले और हमरो सिक्किम पार्टी (HSP) के कार्यकारी अध्यक्ष भाईचुंग भूटिया ने भी दो सप्ताह तक चलने वाले चुनाव प्रचार के लिए चुनावी सभाएं कीं।

बता दें कि यहां 32 विधानसभा सीटों पर 150 उम्मीदवार मैदान में हैं, जबकि कुल ग्यारह उम्मीदवार सिक्किम में लोकसभा सीट पर चुनाव लड़ रहे हैं। प्रमुख उम्मीदवारों में चामलिंग आठवीं बार विधायक बनने के लिए चुनाव लड़ रहे हैं, वो दो सीटों से चुनाव मैदान में हैं, इसके अलावा भाईचुंग भूटिया भी दो विधानसभा सीटों से चुनाव लड़ रहे हैं।

सिक्किम के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) रवींद्र तेलंग के मुताबिक, राज्य में 4,20,306 मतदाता हैं जिनमें 2,20,305 पुरुष और 2,12,001 महिलाएं हैं। सिक्किम में कुल मतदाताओं में से 30,480 पहली बार वोट डालेंगे, जबकि 2,042 मतदाताओं ने खुद को पीपुल्स विद डिसेबिलिटी (पीडब्ल्यूडी) के रूप में पंजीकृत किया है।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी के मुताबिक, सिक्किम में कुल 567 मतदान केंद्र होंगे, जिनमें से 120 को महत्वपूर्ण मतदान केंद्रों के रूप में चिन्हित किया गया है। उन्होंने कहा कि सुरक्षा की दृष्टि से एसएसबी की 10 कंपनियों सहित 3,600 मतदान कर्मियों और 4,000 सुरक्षाकर्मियों को अगले 11 मई को होने वाले मतदान के लिए तैनात किया गया है।