झारखंड के पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री मिथिलेश कुमार ठाकुर के एक ट्वीट से सरकार की किरकिरी हो रही है। इस ट्वीट में मंत्री ने पंजाब के लुधियाना से एक ट्रेन चलने की सूचना दी थी, जिसे बाद में पुलिस ने गलत बताया। इस ट्वीट के बाद पंजाब के लुधियाना पुलिस ने भी मंत्री को नसीहत दी है। इधर, भाजपा अब मंत्री पर गलत सूचना देने के लिए मामला दर्ज करने की मांग की है। झारखंड के मंत्री ठाकुर ने पांच मई को एक ट्वीट करते हुए लिखा, ‘‘कल सुबह पंजाब से झारखंड के लिए 2 ट्रेनें खुलेंगी। पहली लुधियाना से( सुबह 10 बजे) और दूसरी जालंधर से (सुबह 11 बजे) चलेगी। घर वापसी के इच्छुक सारे श्रमिक बंधु कृपया समय से स्टेशन पहुंच जाएं।’’

सूत्रों का कहना है कि इस ट्वीट के बाद मजदूर स्टेशान पहुंचने लगे और कानून व्यवस्था की स्थिति बनाने में पुलिस को मषक्कत करनी पड़ी। मंत्री के इस ट्वीट के जवाब में लुधियाना के पुलिस कमिश्नर के ट्विटर हैंडलसे ट्वीट कर इस खबर को गलत बताते हुए लिखा गया, ‘‘इस तरह के संदेशों द्वारा हमारे लिए कानून और व्यवस्था की समस्या पैदा नहीं करने का हम अनुरोध करते हैं। आज लुधियाना से झारखंड तक कोई ट्रेन चलाने की योजना नहीं है। उन लोगों को सटीक तारीख और समय के साथ एसएमएस के माध्यम से सूचित करेंगे, जो अपने घर झारखंड जाना चाहते हैं।’’

एक अन्य ट्वीट में कहा गया, ‘‘हम ऐसे लोगों का डेटा संग्रह कर चुके हैं। वास्तव में ऐसे लोगों को स्टेशन लाने के बस बस भेजा जाएगा।’’ इधर, इस ट्वीट के बाद भाजपा की झारखंड इकाई ने सरकार पर निशाना साधा है। भाजपा का आरोप है कि मंत्री मिथिलेश कुमार ठाकुर के एक भ्रामक ट्वीट की वजह से लुधियाना में रेलवे स्टेशन पर झारखंड के प्रवासी मजदूरों को लाठीचार्ज झेलना पड़ा। भाजपा ने कहा कि मंत्री मिथिलेश कुमार ठाकुर को इसके लिए तुरंत माफी मांगनी चाहिए। भाजपा के प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने कहा कि मंत्री ने मंगलवार (5 मई, 2020) को ट्वीट किया कि लुधियाना से एक स्पेशल ट्रेन झारखंड के लिए खुलने वाली है। उसके बाद झारखंड के मजदूर लुधियाना रेलवे स्टेशन पर जुटने लगे। इन मजदूरों को तितर-बितर करने के लिए पंजाब पुलिस ने लाठीचार्ज किया और बल का प्रयोग किया, जो की बहुत दुखद है। प्रतुल शाहदेव ने कहा कि मंत्री के द्वारा गलत सूचना के कारण पहले से परेशान झारखंड के प्रवासी मजदूरों की बेवजह पिटाई हो गयी। उन्होंने कहा कि हद तो तब हो गयी, जब कांग्रेस शासित प्रदेश पंजाब के लुधियाना शहर के पुलिस कमिश्नर ने मंत्री को विधि-व्यवस्था की समस्या उत्पन्न न करने की नसीहत दे दी। उन्होंने कहा कि लुधियाना से कोई ट्रेन ही नहीं चलने वाली थी।