राजनीति के रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने देश में कई सरकारें अपनी तीक्ष्ण बुद्धि से बनाई है और उजाड़ी भी है। इनकी राजनीति की रणनीतियां इतनी तगड़ी होती है कि जिस भी पार्टी के साथ यह होते हैं वो पार्टी बहुत से वोट हासिल करती है। लेकिन अब राजनीतिक गलियारों में हंगामा मचा हुआ है क्योंकि प्रशांत किशोर अब खुद की पार्टी का गठन करने वाले हैं और पार्टी की शुरूआत बिहार से मानी जा रही है।

प्रशांत ने ट्वीट कर नई पार्टी के गठन का इशारा किया है। उन्होंने पिछले दस साल की राजनीति पर चुटकी भी ली और जन सुराज का दावा किया है। प्रशांत किशोर ने सोअपने ट्विटर अकाउंट से ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है। उन्होंने असली मालिक को जनता के पास जाने और मुद्दों को समझने की बात कही है। प्रशांत किशोर के इस ट्वीट के बाद सियासी गलियारे में चर्चा तेज हो गई है। सबकी नजरें अब प्रशांत किशोर के अगले कदम पर है।



यह भी पढ़ें- तुरा के BJP MDC बर्नार्ड एन मारक ने मुख्यमंत्री कॉनराड संगमा पर लगाए गंभीर आरोप


कांग्रेस के साथ होने की थी चर्चाप्रशांत किशोर ने पिछले महीने कई बार कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मीटिंग की थी। उन्होंने कांग्रेस को फिर से खड़ा करने का प्लान भी बताया था। तब चर्चा थी कि वह खुद कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं। इसके बाद यह बात सामने आई कि कुछ मुद्दों पर सहमति नहीं बन पाने की वजह से उन्होंने पार्टी में शामिल होने से इनकार कर दिया।


यह भी पढ़ें- केंद्रीय मंत्री किशन रेड्डी आज करेंगे मणिपुर का दौरा, इम्फाल को देंगे कई सौगात


ऐसे सुर्खियों में आए प्रशांत किशोर 2014 में मोदी सरकार को सत्ता में लाने के बाद प्रशांत किशोर चर्चा में आए थे। उन्हें बेहतरीन चुनावी रणनीतिकार के तौर पर जाना जाता है। अब उनके लिए चुनौती ये होगी कि वे अपनी पार्टी बनाते हैं तो वह किस तरीके से और कैसे किन मुद्दों पर काम करेगी। अभी तक वे पर्दे के पीछे से ही राजनीति करते थे।