अमेरिका में गत तीन नवंबर को हुए राष्ट्रपति चुनाव में अपनी जीत के लिए डोनाल्ड ट्रंप अब भी नई-नई तरकीब अपनाने से पीछे नहीं हट रहे हैं।  उन्होंने नतीजे को बदलने के लिए जॉर्जिया प्रांत के मुख्य चुनाव अधिकारी पर दबाव बनाया और कहा कि उनकी हार को पलटने के लिए पर्याप्त वोटों की व्यवस्था करें। ट्रंप ने गत शनिवार को फोन कर करीब एक घंटे तक बात की थी और एक तरह से यह धमकी भी दी कि अगर ऐसा नहीं किया तो खामियाजा भुगतना पड़ेगा। 

गोपनीय तरीके से रिकॉर्ड किया गया बातचीत का यह ऑडियो रविवार को वाशिंगटन पोस्ट अखबार ने जारी किया।  न्यूयॉर्क टाइम्स अखबार ने भी ऑडियो हासिल किया है।  रिकॉर्डिग के अनुसार, ट्रंप ने जॉर्जिया के मुख्य चुनाव अधिकारी ब्रेड रेफेनस्पर्जर से कहा कि उन्हें मतों की दोबारा गिनती करानी चाहिए, ताकि बाइडन की जगह वह जीत जाएं।  अमेरिकी राष्ट्रपति ने रिपब्लिकन अधिकारी से कहा, मैं सिर्फ 11 हजार 780 वोट चाहता हूं।  इसका इंतजाम किया जाए। 

16 इलेक्टोरल कॉलेज वोट वाले जॉर्जिया में ट्रंप को 11 हजार 779 मतों से हार का सामना करना पड़ा था।  इस प्रांत में जीत के साथ यहां के 16 इलेक्टोरल वोट बाइडन के खाते में चले गए थे।  ट्रंप ने कहा, जॉर्जिया के लोग गुस्से में हैं।  देश के लोग गुस्से में हैं और यह कहने में कुछ गलत नहीं है कि आप मतों की दोबारा गिनती कराएं।  क्योंकि हम  प्रांत को जीतना चाहते हैं। 

हालांकि इसके जवाब में रेफेनस्पर्जर और उनके दफ्तर के मुख्य वकील रियान जर्मनी ने ट्रंप को बताया कि जॉर्जिया के नतीजे सही हैं। अब कुछ नहीं हो सकता है।  इस पर ट्रंप ने धमकी भरे लहजे में कहा कि आप और आपके वकील जोखिम मोल रहे हैं।  आपराधिक मामले में फंस सकते हैं। 

ट्रंप का यह सनसनीखेज ऑडियो रिकॉर्डिग ऐसे समय आया, जब उनके कार्यकाल में महज 15 दिन शेष बचे हैं।  चुनाव में जीत दर्ज करने वाले  डेमोक्रेट जो बाइडन 20 जनवरी को अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति के तौर पर शपथ लेंगे।