बाइक सीज करने पर ऊर्जा निगम के संविदाकर्मियों ने खटीमा के झनकईया थाने की बिजली ही उड़ा दी। इन लोगों ने थाने के ठीक सामने लगे ट्रांसफार्मर में फाल्ट कर दिया। इससे घंटों तक पुलिसकर्मी,आसपास के बड़े आबादी क्षेत्र के लोग परेशान रहे। सीसीटीवी फुटेज खंगालने के बाद मामले में पांच लोगों पर केस दर्ज किया है।

घटना तीन दिन पुरानी बतायी जा रही है,जांच के बाद मुकदमा शनिवार को दर्ज किया है। झनकईया थाना प्रभारी दिनेश फत्र्याल ने कहा दो सितंबर यानी गुरुवार देर शाम अचानक थाने और आसपास के क्षेत्र की बिजली गुल हो गयी। थाना प्रभारी ने लोहियाहेड बिजलीघर के अधिकारियों से संपर्क किया तो मालूम चला कि बिजलीघर से आपूर्ति चालू है।

थाना प्रभारी के कहने पर लाइनमैन हरेन्द्र सिंह लाइन में फाल्ट चेक किया तो पता चला थाने के ठीक सामने लगे ट्रांसफार्मर में फाल्ट था। इसकी वजह से ही थाने और आसपास के इलाके में आपूर्ति ठप हो गयी थी। खासी मशक्कत के बाद हरेन्द्र ने ट्रांसफार्मर का फाल्ट दूर किया।  

थाना प्रभारी फत्र्याल ने कहा लाइन चालू होने के बाद हरेन्द्र ने ट्रांसफार्मर में छेड़छाड़ की आशंका जतायी।  सीसीटीवी फुटेज खंगाले गये तो पांच लोग ट्रांसफार्मर से छेड़छाड़ करते नजर आये। इनकी पहचान राकेश गौतम, जित्तू राणा, चंद्रशेखर भट्ट, जय प्रकाश राणाऔर एक अन्य अज्ञात के तौर पर हुयी। जांच में पता चला कि ये सभी ऊर्जा निगम में संविदाकर्मी के तौर पर तैनात हैं। दो सितंबर को यातायात नियमों के उल्लंघन पर राकेश गौतम की बाइक सीज कर दी गयी थी। इसी वजह से खुन्नस में उन्होंने थाने की बिजली उड़ा दी।