पूर्वोत्तर राज्य असम में पुलिस ने भीड़ द्वारा पीट-पीटकर हत्या किए जाने के एक मामले में एक और आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है।


47 वर्ष के दिनेश पतर पर 15 अगस्त को हुई मॉब लिंचिंग के लिए लोगों को उकसाने का आरोप है। इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार दिनेश पतर ग्राम रक्षा दल (वीडीपी) का सचिव है। वीडीपी का काम जमीनी स्तर पर पुलिस की सहायता करना है।


असम के विश्वनाथ जिले में हुई इस घटना में देबेन राजबोंग्शी नाम के एक व्यक्ति की मृत्यु हो गई थी। इसके अलावा फूलचन साहू, बिजय नायक और पूजेन घाटोवार नामक तीन अन्य लोग इस हमले में बुरी तरह घायल हो गए थे।


इस मामले में अब तक 14 लोगों को हिरासत में लिया जा चुका है। पुलिस का दावा है कि इन चार लोगों की गाड़ी में से दो गायें बरामद की गई थी। वहीं पीड़ितों के अनुसार वे लोग सूअर खरीदने गए थे और इसी दौरान डंडों और रॉड से लैस करीब 30 लोगों ने उन पर हमला बोल दिया था।