असम के कछार जिले में असम औद्योगिक सुरक्षा बल के एक जवान की मौत हो गई। बाजार में लॉकडाउन लागू कराने के दौरान जवान की मौत हुई। दरअसल सिल्चर कस्बे के समीप सोनाबारीघाट गांव में बाजार में एआइएसएफ के जवान बक्तरुद्दीन बारभुया को शनिवार सुबह मृत पाया गया। पोस्टमार्टम के लिए उनके शव को सिल्चर मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल भेजा गया है। पोस्टमार्टम से मौत के असली कारण का पता चल सकेगा।


बोंगाइगांव जिले के भावलगुरी बाजार में उपद्रव पर उतारू भीड़ को शांत करने के लिए पुलिस को हवाई फायर करनी पड़ी। लॉकडाउन आदेश का पालन करने का जोर डालने के बाद भीड़ ने सुरक्षाकर्मियों पर हमला बोल दिया था। मांस और मुर्गे की दुकान पर बड़ी संख्या में लोग शारीरिक दूरी बनाए रखने के नियम की धज्जियां उड़ाते हुए खड़े थे।

पुलिस के हस्तक्षेप करने पर उनमें से अधिकांश तितर-बितर हो गए और कटार एवं पत्थरों से लैस होकर लौटे। उन लोगों ने तैनात अधिकारी पर हमला कर दिया। जैसे ही पुलिसकर्मियों पर पत्थर फेंके गए उन्होंने लाठीचार्ज किया और भीड़ को भगाने के लिए हवाई फायर किए। अतिरिक्त पुलिस बल को बुला लिया गया और इस सिलसिले में चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

कोनोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए देशव्‍यापी लॉकडाउन लागू है लेकिन लोग बार बार इसका उल्‍लंघन कर रहे हैं। वहीं लॉकडाउन के कारण दिहाड़ी मजदूरों की मुश्किलें भी बढ़ गई हैं। उनके सामने रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया है। दिल्ली समेत देश के अलग अलग इलाकों से मजदूरों के गांवों को पलायन की खबरें सामने आ रही हैं।