अवध असम एक्सप्रेस से रेलवे पुलिस की टीम ने 27 बोतल अवैध शराब के साथ एक तस्कर को गिरफ्तार किया है। इस अपराध का खुलासा तब हुआ जब रेलवे पुलिस राज्य में अपराध नियंत्रण और शराब तस्करी पर रोक लगाने को लेकर स्टेशन पर तलाशी अभियान चला रही थी।


इसी दौरान प्लेटफॉर्म नंबर 5 पर लालगढ़ से डिब्रुगढ़ जाने वाली ट्रेन संख्या 15910 अवध असम एक्सप्रेस पहुंची। टीम ने ट्रेन के विभिन्न बोगी में तलाशी शुरू कर दी। इस दौरान टीम स्लीपर बोगी में पहुंची तो सीट के नीचे रखे बैग के बारे में पूछताछ की। यात्री से बैग की तलाशी कराने को कहा गया। जिस पर यात्री आनाकानी करने लगा। शंका होने पर रेल पुलिस ने बैग की तलाशी ली। जिसमें शराब की बोतलें मिली। उसके बाद टीम ने शराब के साथ आरोपी को राजकीय रेल थाना लाया। पुलिस पूछताछ में आरोपी की पहचान सुपौल निवासी नंद किशोर पंडित के रूप में हुई। जीआरपी थानाध्यक्ष ने तस्कर के विरुद्ध अंडर सेक्शन 30 ए के तहत प्राथमिकी दर्ज कर ली है।

बता दें कि यह पहली घटना नहीं है जब ट्रेन के जरिये अवैध शराब की तस्करी की जा रही हो इससे पहले भी अवध असम एक्सप्रेस से जीआरपी ने 18 बोतल अंग्रेजी शराब के साथ दो तस्करों को गिरफ्तार किया। दोनों सहोदर भाई हैं। स्थानीय जंक्शन पर राजकीय रेल थाना पुलिस की टीम अपराध नियंत्रण और शराब तस्करी पर रोक लगाने को लेकर तलाशी अभियान चला रहे थे। नेतृत्व जीआरपी थानाध्यक्ष शशि कपूर स्वयं कर रहे थे। इसी क्रम में प्लेटफॉर्म संख्या 5 पर गश्ती के क्रम में ट्रेन संख्या 15910 अवध असम एक्सप्रेस पहुंची।

टीम ने ट्रेन के विभिन्न बोगी में तलाशी शुरू कर दी। इस दौरान टीम बोगी संख्या एस 10 में बर्थ संख्या 53, 54 के पास पहुंची तो पाया कि बर्थ संख्या 53 के नीचे एक बैग रखा हुआ था। जिसके बारे में पूछने पर दोनों यात्री ने एक स्वर में बोला कि बैग हमारा है। इस क्रम में टीम ने बैग की तलाशी कराने को कहा। जिसके बाद दोनों यात्री भागने का प्रयास करने लगे। दोनों तस्कर की पहचान कटिहार जिला के मनिहारी थाना क्षेत्र के बोरनी गांव निवासी सीता राम गुप्ता के पुत्र ज्योतिष गुप्ता और अर¨वद कुमार गुप्ता के रूप में हुई। साथ ही दोनों अलग-अलग बैग से 18 बोतल अंग्रेजी शराब बरामद हुई।