रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि कुछ दिन इंतजार कीजिए...पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) से ही मांग होगी कि हम पाकिस्तान के कब्जे में नहीं बल्कि भारत के साथ रहना चाहते हैं। सिंह मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के एक वर्ष पूरा होने के मौके पर भारतीय जनता पार्टी के नई दिल्ली स्थित मुख्यालय से जम्मू-कश्मीर की जन संवाद (वर्चुअल) रैली को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित कर रहे थे। 

उन्होंने कहा- कुछ दिन इंतजार कीजिए, पीओके से ही मांग होगी कि हम भारत के साथ रहना चाहते हैं, पाकिस्तान के कब्जे में नहीं। मैं आपको बताना चाहूंगा कि जिस दिन यह होगा, हमारी संसद का भी संकल्प पूरा हो जाएगा। गौरतलब है कि मोदी सरकार ने संसद में कहा था कि पीओके भारत का हिस्सा है। सिंह के साथ भाजपा के महासचिव राम माधव और केंद्रीय राज्य मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह मौजूद थे। जम्मू-कश्मीर भाजपा के अध्यक्ष एवं सांसद रविंदर रैना तथा पार्टी के अन्य नेता मौजूद थे।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत और चीन के बीच विवाद सुलझाने के लिए सैन्य और कूटनीतिक स्तर पर बातचीत जारी है। चीन भी इस मुद्दे का हल चाहता है। किसी को भी अंधेरे में नहीं रखा जाएगा। समय आने पर देश की संसद और विपक्ष को इस बारे में विश्वास में लिया जाएगा। इसके साथ ही रक्षा मंत्री ने साफ किया कि देश की संप्रभुता से किसी प्रकार का कोई समझौता नहीं किया जाएगा।