पटना। बिहार में जहरीली शराब कांड को लेकर विधानसभा में आज विपक्ष के हंगामे के बाद सदन की कार्यवाही भोजनावकाश तक के लिए स्थगित कर दी गई। विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने बुधवार को भारत की कम्युनिस्ट पार्टी माक्र्सवादी-लेनिनवादी (भाकपा-माले), राष्ट्रीय जनता दाल (राजद) और कांग्रेस सदस्यों के कार्यस्थगन प्रस्तावों को अस्वीकार करते हुए शून्यकाल की कार्यवाही शुरू करने का निर्देश दिया। 


यह भी पढ़ें- लगातार दूसरे दिन बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम , जानें आज कितना महंगा हुआ पेट्रोल-डीजल, क्या हैं नए रेट

लेकिन, पूरे विपक्ष ने जहरीली शराब कांड को लेकर हंगामा शुरू कर दिया। भाकपा-माले सदस्य सत्यदेव राम और कांग्रेस विधायक दल के नेता अजीत शर्मा ने विपक्ष के अन्य सदस्यों के साथ सदन का ध्यान इस त्रासदी की ओर आकर्षित करने का प्रयास करते हुए कहा कि हाल ही में राज्य में नकली शराब के सेवन से कई लोगों की मौत हुई है। 

यह भी पढ़ें- अगले 24 घंटो में बदल जाएगा इन लोगों का भाग्य! बुध चमकाएंगे इन राशि वालों की किस्‍मत

इतना ही नहीं मृतकों का पोस्टमॉर्टम भी नहीं किया गया। इस मुद्दे पर सरकार से जवाब की मांग कर रहे विपक्षी सदस्य सदन के बीच में आकर शोरगुल करने लगे। हालांकि सभाध्यक्ष के अनुरोध के बाद वे अपनी सीट पर लौट गए। संसदीय कार्य मंत्री विजय कुमार चौधरी ने कहा कि सरकार कल के लिए सूचीबद्ध गृह विभाग से संबंधित अपने जवाब के दौरान इस मुद्दे पर अपनी टिप्पणी देगी।