बिहार (Bihar) में एक बार फिर से जहरीली शराब का कहर तेजी से बरपा है. राज्य के समस्तीपुर जिले में BSF और आर्मी जवान समेत चार लोगों की संदिग्ध हालात में मौत के बाद इलाके में सनसनी फैल गई है. वहीं, दोनों जवान दीवाली और छठ त्योहार को मनाने के लिए छुट्टी में अपने गांव आए हुए थे. वहीं, आधा दर्जन से ज्यादा लोग बीमार बताये जा रहे हैं. जहां मृतकों में एक सेना का जवान और एक बीएसएफ का एसआई भी शामिल है.

दरअसल, ये मामला समस्तीपुर जिले के पटोरी ब्लॉक के रुपौली पंचायत का है. पुलिस अधिकारी के मुताबिक इसमें आधा दर्जन लोग बीमार भी हुए हैं जिन्हें इलाज के लिए अलग-अलग अस्पतालों में ले जाया गया है. जहां मृतकों में एक बीएसएफ का और एक सेना का जवान भी शामिल है जो छुट्टी में घर आए हुए थे. हालांकि परिजन शराब पीने की बात से इंकार कर रहे हैं वहीं पोस्टमार्टम कर्मी शराब पीने की पुष्टि कर रहे हैं.

बता दें कि इन सभी लोगों ने एक ही जगह से खरीद कर शराब पी थी. मरने वालों में चकसीमा निवासी सुरेंद्र राय का बेटा सेना का जवान मोहन कुमार (27), दीगल चकसीमा का बीएसएफ एसआई विनय कुमार सिंह (53), संग्रामपुर निवासी विश्वनाथ चौधरी के बेटे श्याम नंदन चौधरी (50) और रुपौली निवासी महेश्वर राय के बेटे वीरचंद्र राय (35) के नाम शामिल हैं.

गौरतलब है कि खबरों के अनुसार बीते शुक्रवार की शाम रुपौली में लोगों के बीमार पड़ने और मरने का सिलसिला शुरू हुआ. जहां एक-एक कर लगभग एक दर्जन लोगों की तबीयत बिगड़ने से गांव में हड़कंप मच गया. इस दौरान कोई पेट दर्द तो कोई आंखों की रौशनी कम होने की बात करने लगा. इसके बाद लगातार मौत का सिलसिला बढ़ता चला गया.

मिली जानकारी के अनुसार, सेना के दोनों जवान के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है. जबकि बाकी लोगों के परिजनों ने उनका अंतिम संस्कार करने की तैयारी की जा रही है. बीमार लोगों का इलाज पटोरी से बाहर प्राइवेट अस्पताल में चल रहा है, जिसमें बहुत लोगों की हालत चिंताजनक बताई जा रही है. हालांकि इस घटना की पुष्टि अभी पुलिस के द्वारा नहीं की गई है.