मेघालय में सत्तारूढ़ नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) ने रविवार को खासी पर्वतीय स्वायत्त जिला परिषद (केएचएडीसी) के अध्यक्ष पी. एन. सियेम को कथित पार्टी विरोधी गतिविधियों के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया। राज्य एनपीपी अध्यक्ष डब्ल्यू.आर.खारलुखी ने सियेम को जारी एक पत्र में कहा कि एनपीपी की अनुशासनात्मक समिति ने उन्हें पार्टी विरोधी गतिविधियों के लिए पार्टी से निष्कासित करने का फैसला किया है।


दिलचस्प बात यह है कि अनुशासनात्मक समिति ने एनपीपी के दो सदस्यों मिचेल वानखर और एल्विन खैरीम सॉवेमी के खिलाफ अब तक कोई कार्रवाई नहीं की है जिनके बारे में कई लोगों का मानना है कि उन्होंने विपक्षी कांग्रेस द्वारा पेश अविश्वास प्रस्ताव के दौरान यूनाइटेड डेमोक्रेटिक अलायंस की एनपीपी-यूनाइटेड डेमोक्रेटिक पार्टी की कार्यकारी समिति के खिलाफ वोट दिया था।


सियेम को जारी किया गया निष्कासन पत्र महत्वपूर्ण है क्योंकि यह तब आया, जब राज्यपाल तथागत रॉय ने केएचएडीसी में प्रशासक के शासन को लागू करने के राज्य सरकार के अनुरोध को अस्वीकार कर दिया जिससे नवनिर्वाचित केएचएडीसी के मुख्य कार्यकारी सदस्य लातिपलांग खरकोंगोर और उनके वफादार को राहत मिली।

अब हम twitter पर भी उपलब्ध हैं। ताजा एवं बेहतरीन खबरों के लिए Follow करें हमारा पेज : https://twitter.com/dailynews360