PM मोदी इस बार दिवाली राजस्थान में मनाएंगे जिसके तहत जैसलमेर में जवानों संग खास कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। राजस्थान के जैसलमेर बॉर्डर पर दीवाली का यह कार्यक्रम हो सकता है। सीडीएस जनरल बिपिन रावत भी इस मौके पर उनके साथ रह सकते हैं।

प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेंद्र अपनी हर दिवाली सरहद पर डटे सैनिकों के साथ मनाते रहे हैं। इस बार भी उनका सैनिकों के साथ दिवाली मनाने का कार्यक्रम लगभग फाइनल हो चुका है। सूत्रों के मुताबिक इस बार वे सरहद पर बनी लोंगेवाला पोस्ट पर दिवाली मनाएंगे। इसके लिए सेना और एसपीजी की ओर से तैयारियों को अंतिम रूप दे दिया गया है।

पीएम मोदी के इस जैसलमेर दौरे में उनके सीडीएस जनरल बिपिन रावत और आर्मी चीफ मनोज मुकुंद नरवणे भी शामिल रहेंगे। चूंकि पिछले 7 महीने से लद्दाख में भारत-चीन के बीच युद्ध जैसे हालात बने हुए हैं। ऐसे में पीएम मोदी का जैसलमेर पहुंचकर सैनिकों के साथ दिवाली मनाने से जवानों का उत्साह बढ़ाने वाला कदम साबित होगा।

लोंगेवाला पोस्ट वही जगह है, जहां पर भारत और पाकिस्तान की सेनाओं के बीच 1965 में भीषण युद्ध हुआ था। उस वक्त पोस्ट की सुरक्षा में तैनात पंजाब रेजिमेंट के 120 जवानों से हमले के लिए आ रहे पाकिस्तान के 3 हजार जवानों को मार भगाया था। इसी घटना पर बाद में सुपरहिट बॉर्डर फिल्म भी बनी।

खबर है कि पीएम नरेंद्र मोदी का जैसलमेर दौरा काफी सोच-समझकर तय किया गया है। ऐसा करके पीएम मोदी विस्तारवादी चीन और आतंक परस्त पाकिस्तान को एक साथ सख्त संदेश देंगे कि भारत उनकी ओछी हरकतों से झुकने वाला नहीं है और वह हर तरीके से उन्हें जोरदार जवाब देगा।