PM मोदी के स्वागत में असम के लोग तिरंगा और पोस्टर लेकर घरों से निकले हैं। असम के कोकराझार में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आज रैली है जिसमें उनके स्वागत को लेकर जबरदस्त तैयारियां की गई है। प्रधानमंत्री के स्वागत में कोकराझार में जगह-जगह पोस्टर लगाए गए हैं और बड़ी संख्या में लोग हाथ में तिरंगा लेकर जनसभा स्थल में पहुंच रहे हैं। बता दें कि बोडो समझौते पर हस्ताक्षर होने का जश्न मनाने के लिए कोकराझार में कार्यक्रम का आयोजन किया गया है जिसे पीएम मोदी संबोधित करेंगे। 

कुछ समय पहले तक जो असम नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर विरोध-प्रदर्शनों में जल रहा था, उसी असम की तस्वीर आज बदली-बदली नजर आ रही है। इसकी वजह है बोडो समझौता। कोकराझार में लोगों ने अपनी खुशी जाहिर करते हुए एक दिन पहले सड़कों और गलियों में मिट्टी के दीए जलाए। ऑल बोडो स्टूडेंट यूनियन (एबीएसयू) ने कोकराझार में बाइक रैली भी निकाली थी। 

बोडो समझौते पर हस्ताक्षर 27 जनवरी को सरकार द्वारा नैशनल डेमोक्रेटिक फ्रंट ऑफ बोडोलैंड (एनडीएफबी) के चार धड़ों, आल बोडो स्टूडेंट्स यूनियन और एक नागरिक समाज समूह के साथ किया गया था। इसका उद्देश्य असम के बोडो बहुल क्षेत्रों में दीर्घकालिक शांति लाना है। प्रधानमंत्री ने हाल के एक ट्वीट में हस्ताक्षर वाले दिन को 'भारत का एक बहुत खास' दिन बताया था और कहा था कि यह बोडो लोगों के लिए परिवर्तनकारी परिणाम लाएगा। 

समझौते पर हस्ताक्षर होने के दो दिनों में एनडीएफबी के विभिन्न धड़ों के 1615 से अधिक सदस्यों ने अपने हथियार सौंप दिये थे और मुख्यधारा में शामिल हो गए थे। बता दें कि असम में दिसंबर महीने में ही नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर हिंसक प्रदर्शन हुए थे जिसमें 3 लोग मारे गए थे। प्रदर्शन शुरू होने के बाद यह पीएम मोदी का पहला पूर्वोत्तर दौरा होगा। 

अब हम twitter पर भी उपलब्ध हैं। ताजा एवं बेहतरीन खबरों के लिए Follow करें हमारा पेज : https://twitter.com/dailynews360