प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi  ने मंगलवार को कानपुर में 11 हजार करोड़ रुपये लागत की मेट्रो रेल परियोजना के प्रथम खंड की शुरुआत की और कानपुर मेट्रो रेल को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस मौके पर विपक्षी दलों खासतौर से बिना नाम लिए समाजवादी पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि जिन दलों की आर्थिक नीति ही भ्रष्‍टाचार हो वह यूपी का विकास नहीं कर सकते हैं। 

मेट्रो रेल परियोजना की शुरुआत करने के बाद कानपुर नगर के रेलवे ग्राउंड, निराला नगर में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि कि जिन दलों की आर्थिक नीति ही भ्रष्टाचार हो, जिनकी नीति ही बाहुबलियों का आदर सत्कार हो, वह उप्र का विकास नहीं कर सकते। मोदी ने बिना नाम लिए कानपुर में इत्र कारोबारी के (raid at the house of a perfume trader घर छापे की चर्चा करते हुए कहा कि मैं सोच रहा था बीते दिनों जो बक्से भर-भर के नोट मिले है, उसके बाद भी ये लोग यही कहेंगे कि ये भी हमने ही किया है। साथियों आप कानपुर वाले तो बिजनेस को, व्यापार-कारोबार को अच्छे से समझते हैं।

प्रधानमंत्री ने जोर देकर कहा कि  से पहले भ्रष्‍टाचार का जो इत्र उन्होंने पूरे यूपी में छिड़क रखा था, वह फिर सबके सामने आ गया है, लेकिन अब वो मुंह पर ताला लगाकर बैठे हैं। क्रेडिट लेने के लिए आगे नहीं आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि नोटों का पहाड़ जो पूरे देश ने देखा वही उनकी उपलब्धि है, यही उनकी सच्चाई है, यूपी के लोग सब देख रहे हैं, सब समझ रहे हैं। पीएम मोदी ने कहा कि यूपी में पहले जो सरकारें रहीं, उन्होंने माफियावाद का पेड़ इतना फैलाया कि उसकी छांव में सारे उद्योग-धंधे चौपट हो गए। अब योगी जी की सरकार, कानून व्यवस्था का राज वापस लाई है।इसलिए यूपी में अब निवेश भी बढ़ रहा है और अपराधी अपनी जमानत खुद रद्द करवा कर जेल जा रहे हैं।

गौरतलब है कि आयकर और केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क बोर्ड द्वारा गत दिनों की गई छापेमारी में कानपुर में इत्र व्यापारी (पीयूष जैन) के घर से लगभग 257 करोड़ रुपये नकद, 25 किलो सोना और 250 किलो चांदी उसके घर और कारखाने से बरामद किया गया था। वहीं, उन्नाव में पत्रकारों से बातचीत में सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने मंगलवार को कहा कि व्यापारी के सीडीआर (कॉल डिटेल रिकॉर्ड) से कई भाजपा नेताओं के नाम सामने आएंगे जो उनके संपर्क में थे। उन्होंने कहा  कि गलती से भाजपा ने अपने ही कारोबारी पर छापा मारा। उन्होंने दावा किया कि समाजवादी इत्र (इत्र) सपा एमएलसी पुष्पराज जैन द्वारा लॉन्च किया गया था न कि पीयूष जैन ने लांच किया था।

सपा को घेरते हुए मोदी ने कहा कि इनको हर उस कदम से समस्या होती है जिससे समाज को मजबूती मिलती है, समाज का सशक्तिकरण होता है, इसलिए महिला सशक्तिकरण के लिए उठाए गए कदमों का ये विरोध करते हैं। चाहे तीन तलाक के विरुद्ध सख्त कानून हो या फिर लड़के या लड़कियों की शादी की उम्र को बराबर करने का विषय, ये सिर्फ विरोध ही करते रहते हैं। उन्होंने कहा कि योगी जी की सरकार के काम को देखकर ये लोग जरूर कहते हैं कि ये तो हमने किया था, ये तो हमने किया था।

पीएम मोदी ने कहा कि ध्‍यान रहे कि समाजवादी पार्टी के दो सांसदों ने लड़कियों की शादी की उम्र 21 वर्ष किये जाने के केंद्र सरकार के फैसले का विरोध किया था और बीते दिनों पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के उद्घाटन के मौके पर सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने दावा किया था कि इसका शिलान्यास उन्होंने (यादव) दिसंबर, 2016 में ही कर दिया था। जनसभा को संबोधित करने से पहले मोदी ने मेट्रो रेल से यात्रा की और उनके साथ उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ भी मौजूद थे। मोदी ने कानपुर मेट्रो रेल परियोजना प्रदर्शनी का भी अवलोकन किया।

सरकारी बयान के अनुसार, मेट्रो परियोजना दो चरणों में पूरी होगी एवं दो कॉरिडोर होंगे। कानपुर मेट्रो रेल परियोजना के 32.6 किलोमीटर लंबे दोनों कॉरिडोर में कुल 30 मेट्रो स्टेशन होंगे। बयान में कहा गया कि मेट्रो से एक बार में 974 यात्री सफर कर सकेंगे और ट्रेन की रफ्तार 80 से 90 किलोमीटर प्रति घंटा रहेगी। इसके अनुसार, पहले कॉरिडोर की लंबाई भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) कानपुर से नौबस्ता तक 24 किलोमीटर की होगी।