कोरोना महामारी के बीच देश की जनता के मन में इस महामारी की वैक्सीन को लेकर कई सवाल हैं। वहीं अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों को आश्वासन दिया है कि देश के हर एक नागरिक को कोरोना वैक्सीन दिया जाएगा। 

एक इंटरव्यू में प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं देश को आश्वस्त कराना चाहता हूं कि जैसे ही देश में वैक्सीन उपलब्ध होगी, हर किसी को वैक्सीन दी जाएगी। किसी को छोड़ा नहीं जाएगा। कोरोना संकट को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत में सरकार के वक्त पर लिए गए फैसलों और लोगों की मदद से काफी जान बच पाई है। लॉकडाउन लगाने और फिर अनलॉक की प्रक्रिया करने का समय पूर्ण रूप से सही था। पीएम ने कहा कि कोरोना वायरस का संकट अभी भी बरकरार है, ऐसे में लोगों को सावधानी बरतनी चाहिए। त्योहार के दिनों में लोगों को अधिक सतर्क रहना चाहिए, ये मौका किसी भी तरह की ढील देने का नहीं है।

गौरतलब है कि भारत में पिछले 24 घंटों में कोरोनावायरस के 49,881 नए मामले सामने आए, जिसके बाद कुल मामलों की संख्या 80 लाख के ऊपर पहुंच गई। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने गुरुवार को बताया कि भारत में कोविड-19 के कुल मामले अब 80,40,203 हो गए हैं। कुल मामलों में से 6,03,687 फिलहाल सक्रिय हैं और 73,15,989 मरीजों को ठीक होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। पिछले 24 घंटों में भारत में कोरोनावायरस से 517 मौतें हुई जिसके बाद कुल मौतों की संख्या 1,20,527 हो गई। 26 अक्टूबर को पिछले कुछ महीनों में सबसे कम 480 मौतें दर्ज की गई थी।

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के डेटा के मुताबिक, देश में रिकवरी रेट 90.99 प्रतिशत है, जबकि मृत्यु दर 1.50 फीसदी है। महाराष्ट्र में कोरोनावायरस के सबसे ज्यादा 16,60,766 मामले दर्ज हुए हैं, और यहां 43,554 मौतें हुई हैं। इसके बाद आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश और दिल्ली का स्थान है। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च के मुताबिक, भारत में एक दिन में 10,75,760 सैंपल की जांच की गई, जिसके बाद जांच की कुल संख्या बढ़ कर 10,65,63,440 हो गई है।