शिमला भारत की बहुत ही फेमस जगहों में एक है। यहां की खुबसूरत हर किसी को अपना  दिवाना बना देती है। यहां की फिजा में एक अलग सा जादू है। इसी तरह की जगह ऐसी जो पीएम मोदी की भी खास है। शिमला का कॉफी हाउस की कॉफी के पीएम नरेंद्र मोदी भी दीवाने हैं, लेकिन कोरोना काल के इस समय में यहां पर ताला लटकने की नौबत आ गई है। हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला के इंडियन कॉफी हाउस की कॉफी बहुत ही प्रसिद्ध हैं।


शिमला का ये कॉफी हाउस स्थानीय लोगों के साथ-साथ देश-विदेश के पर्यटकों के बीच भी मशहूर है। साल 1957 में स्थापित यह कॉफी हाउस शिमला के ऐतिहासिक मॉल रोड पर स्थित है। इस कॉफी हाउस की खास बात यह है कि यहां उत्तर भारत से लेकर दक्षिण भारत और पूर्व से लेकर पश्चिम भारत तक के सभी व्यंजन इस कॉफी हाउस में बनाए जाते हैं, जिसका स्वाद चखने के के लिए देश विदेश के पर्यटकों के साथ स्थानीय लोग भी खूब आनन्द लेते हैं।

देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरु से लेकर वर्तमान में प्रधानमंत्री पीएम मोदी भी कॉफी के शौकीन रहे हैं, लेकिन कोरोना वायरस की मार इस कॉफी हाउस में भी दिखने लगी है। आमतौर पर पूरी तरह से फुल रहने वाला यह कॉफी हाउस इन दिनों खाली नजर आ रहा है। इस कॉफी हाउस अपनी साख बचाने के लिए ग्राहकों का इंतज़ार कर रहा है। कॉफी हाउस में काम करने वाले मैनेजर आत्मा राम समेत 47 कर्मचारियों को बीते एक साल से वेतन नहीं मिल पाया है।

कोरोना महामारी ने जहां कई उद्योगों और अन्य कारोबार को बंद करवा दिया है उसी तरह से इस मशहूर कॉफी हाउस भी बंद होने की कगार पर है। साल 2017 में जब हिमाचल में भाजपा सरकार बनी थी तो जयराम के शपथ ग्रहण समारोह के लिए पीएम मोदी शिमला आए थे। उनका काफिला कॉफी हाउस के सामने रुक गया था और पीएम ने यहां कॉफी का लुत्फ लिया था।