प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कहा कि उनकी सरकार का लक्ष्य भारत को दुनिया की सबसे बड़ी सैन्य शक्ति बनाना है। पीएम मोदी (PM Narendra Modi) ने विजयादशमी (Vijayadashami) के मौके पर सात नई रक्षा कंपनियों का उद्घाटन करते हुए यह बयान दिया है। पीएम मोदी ने कहा कि ''आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत देश को अपने दम पर दुनिया की सबसे बड़ी सैन्य शक्ति बनाना लक्ष्य है ''।

इन सात रक्षा कंपनियों को आयुध निर्माणी बोर्ड (OFB) से अलग किया गया है। PMO ने कहा कि सरकार ने देश की रक्षा तैयारियों पर आत्मनिर्भरता में सुधार के लिए आयुध निर्माणी बोर्ड (OFB) को एक विभाग से सात पूर्ण सरकारी स्वामित्व वाली कॉर्पोरेट संस्थाओं में बदलने का फैसला किया है।

इस कदम का उद्देश्य कार्यात्मक स्वायत्तता, दक्षता को बढ़ाना और नई विकास क्षमता और नवाचार को उजागर करना है। पीएम मोदी (PM Modi)ने कहा कि "मैं इन सात कंपनियों से अपनी कार्य संस्कृति में 'अनुसंधान और नवाचार' को प्राथमिकता देने का आग्रह करता हूं। आपको भविष्य की तकनीक में नेतृत्व करना है, शोधकर्ताओं को अवसर देना है। मैं स्टार्ट-अप्स से भी इन सात कंपनियों के साथ सहयोग करने का आग्रह करूंगा "।
सात नई रक्षा कंपनियां हैः--
मुनिशन्स इंडिया लिमिटेड (MIL),
बख्तरबंद वाहन निगम लिमिटेड (AVANI),  
ट्रूप कम्फर्ट्स लिमिटेड (TCL),
यंत्र इंडिया लिमिटेड (YIL),
इंडिया ऑप्टेल लिमिटेड (IOL),
ग्लाइडर्स इंडिया लिमिटेड (GIL)।
एडवांस्ड वेपन्स एंड इक्विपमेंट इंडिया लिमिटेड (AWE India)।