कोरोना से देश में हालात गंभीर होते जा रहे हैं। बेकाबू कोरोना अपनी जड़े मजबूत करता जा रहा है। देश के बिगड़ते हालात को लेकर अभी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एक अहम समीक्षा बैठक कर रहे हैं। कयास लगाया जा रहा है कि कोरोना खिलाफ मोदी कड़े फैसले ले सकते हैं। बता दें मोदी कोविड से निपटने के लिए देश में मौजूद मानव संसाधन की स्थिति की समीक्षा कर रहे हैं।

देश के कई हिस्सों में कोविड-19 के मामलों में तेजी से वृद्धि हो रही है। रविवार को एक दिन में सर्वाधिक 3,92,488 नए मामले सामने आए और इसके साथ ही देश में कोरोना संक्रमण के कुल मामले 1,95,57,457 हो गए जबकि पिछले 24 घंटों में 3,689 लोगों की मौत हो गई है, जो कि एक दिन का बहुत ही ज्यादा आंकड़ा है। दूसरी लहर के मद्देनजर प्रधानमंत्री लगातार बैठकें कर रहे हैं।

मोदी ने मुख्यमंत्रियों, अधिकारियों, ऑक्सीजन निर्माताओं सहित अन्य हितधारकों के साथ बैठकें की हैं। पिछले दिनों सेना प्रमुख और वायु सेना प्रमुख ने भी प्रधानमंत्री से मुलाकात में उन्हें सशस्त्र बलों द्वारा कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में उठाए गए कदमों से अवगत कराया है। दूसरी ओर कोविड-19 टास्के फोर्स के सदस्यों ने केंद्र सरकार से राष्ट्रीय लॉकडाउन लगाए जाने की अपील की है।