देश कोरोना ने हाहाकार मचा रखा है। कोरोना से लाखों लोगों की मौत के आंकड़े ने दुनिया को हैरान कर दिया है। देश की कोरोना के इन हालातों में कई विदेशी मदद के लिए हाथ आगे बढ़ा रहे हैं। कोरोना वायरस ने तबाही मचा रखी है। लाखों की संख्या में लोग रोज कोरोना से संक्रमित हो रहे हैं। कोरोना की देश पर इस मार को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  ने अपना दुख साझा किया है।

मोदी ने कोरोना हालातों पर कहा कि जो दर्द देशवासियों ने सहा है उसे वो भी महसूस कर रहे हैं। पीएम मोदी ने किसान सम्माोन निधि योजना (पीएम-किसान) के तहत वित्ती्य लाभ की आठवीं किस्तो जारी करते हुए कहा है। पीएम मोदी ने कहा कि “100 साल बाद आई इतनी भीषण महामारी कदम-कदम पर दुनिया की परीक्षा ले रही है। हमारे सामने एक अदृश्य दुश्मन है। बीते कुछ समय से जो कष्ट देशवासियों ने सहा है,अनेकों लोग जिस दर्द और तकलीफ से गुजरे हैं मैं भी उतना ही महसूस कर रहा हूं ”।


कोरोना महामारी के बीच में कोरोना टीकाकरण किया जा रहा है। वैक्सीन की कमी होने के कारण टीकाकरण अभियान धीमा हो गया था लेकिन अब कोवैक्सन का उत्पान बढ़ा दिया और देश में स्पूतिन वी वैक्सीन को भी मंजूर दे दी गई है। पीएम मोदी ने लोगों से टीका लगाने की भी अपील की है। उन्होंने कहा कि बचाव का एक बहुत बड़ा माध्यम है, कोरोना का टीका। मोदी ने कहा कि 'देशभर में अभी तक करीब 18 करोड़ वैक्सीन डोज दी जा चुकी है। देशभर के सरकारी अस्पतालों में मुफ्त टीकाकरण किया जा रहा है। टीका हमें कोरोना के विरुद्ध सुरक्षा कवच देगा '।