भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पूर्वोत्तर के आठ राज्यों को ‘अष्ट लक्ष्मी’ मानते हैं , जो धन की देवी के आठ रूप हैं और उनकी ‘‘दूरदृष्टि वाली नीतियों’’ से क्षेत्र जल्द ही देश के जीडीपी में सबसे ज्यादा योगदान देने वाला इलाका होगा। इसके साथ ही उन्होंने पूर्वोत्तर को ‘‘विकास के निम्नतम स्तर’’ तक लाने के लिए आज कांग्रेस की निंदा की। बता दें कि पूर्वोत्तर के राज्य मिजारेम में ही सिर्फ कांग्रेस की सरकार है बाकी अन्य राज्यों में भाजपा, इसके सहयोगी या अन्य दलों की सरकार है।


शाह ने टाटा ट्रस्ट के साथ साझेदारी में राज्य में 19 कैंसर केयर अस्पतालों की यहां आधारशिला रखने के बाद कहा कि स्वतंत्रता के समय पूर्वोत्तर की बहुत ऊंची वृद्धि दर थी लेकिन इन क्षेत्रों में ज्यादातर कांग्रेस का शासन रहा है और इनके शासनकाल में विकास निम्नतम स्तर तक पहुंच गया।

शाह ने कहा कि असम में भाजपा की केवल दो साल से ही सरकार है लेकिन सरकार लोगों के बीच विश्वास और आत्मविश्वास पैदा करने में सफल रही है जिससे यह राज्य एक विकसित राज्य बनेगा। उन्होंने कहा,‘‘प्रधानमंत्री ने पूर्वोत्तर को हमेशा ‘अष्टलक्ष्मी’ (देवी लक्ष्मी के आठ स्वरूपों) के रूप में माना है और सड़क और रेल संपर्क, आईटी सम्पर्क, औद्योगिक विकास और शिक्षा सुविधाओं पर ध्यान देकर इसके विकास को काफी महत्व दिया है।

 
प्रधानमंत्री ‘‘एक्ट ईस्ट’’ नीति के माध्यम से क्षेत्र के विकास पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि नरेन्द्र मोदी सरकार ने काफी व्यापक एवं प्रभावी स्वास्थ्य नीति बनाई थी जिससे देश के 50 करोड़ लोगों को फायदा मिलेगा। शाह ने कहा कि सरकार के ‘‘मिशन इंद्रधनुष’’ से देश में 18 करोड़ बच्चों का टीकाकरण सुनिश्चित होगा।असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने 19 अस्पतालों के निर्माण में सहयोग के लिए प्रधानमंत्री और रतन टाटा को धन्यवाद दिया।


असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद

सोनोवाल, अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू और टाटा ट्रस्ट के

अध्यक्ष रतन टाटा इस मौके पर पहुंचे थे।