त्रिपुरा विधानसभा चुनाव को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मतदाताओं से रिकॉर्ड संख्या में मतदान करने की अपील की है। पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा है, मैं त्रिपुरा के मेरी बहनों और भाइयों से, खासकर युवा मतदाताओं से अपील करता हूं कि वे रिकॉर्ड संख्या में मतदान करें और विधानसभा चुनावों में अपना वोट डालें।

त्रिपुरा में रविवार को विधानसभा की 60 में से 59 सीटों पर वोटिंग हुई है। चरीलम विधानसभा सीट से माकपा के उम्मीदवार रामेंद्र नारायण देब बर्मा की पांच दिन पहले हुई मौत के कारण इस सीट पर चुनाव 12 मार्च को होगा।


इस चुनाव में कुल 292 उम्मीदवार दौड़ में हैं। माकपा 57 सीटों पर चुनाव लड़ रही है जबकि अन्य वामपंथी दल आरएसपी, फॉरवर्ड ब्लॉक और भाकपा ने एक-एक सीट पर उम्मीदवारी दर्ज कराई है। कांग्रेस 59 सीटों पर चुनाव लड़ रही है। पार्टी ने गोमती जिले के काक्राबोन विधानसभा सीट से किसी भी उम्मीदवार को मैदान में नहीं उतारा है।


बता दें कि पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा है, मैं त्रिपुरा के मेरी बहनों और भाइयों से, खासकर युवा मतदाताओं से अपील करता हूं कि वे रिकार्ड संख्या में मतदान करें और विधानसभा चुनावों में अपना वोट डालें।


अधिकारियों के मुताबिक राज्य में मतदान व्यवस्था के लिए चार हजार सरकारी वाहनों के अलावा 22 हजार अन्य वाहनों को ड्यूटी पर लगाया है। इस चुनाव में मुख्य मुकाबला भारतीय जनता पार्टी और वामदल के बीच माना जा रहा है। पाछले 25 सालों से वाम दल त्रिपुरा की सत्ता पर काबिज है।


राज्य के मुख्यमंत्री माणिक सरकार ने पांचवी बार फिर से सीएम की कुर्सी पर काबिज होने के मकसद से धुआंधार प्रचार किया है। उन्होंने माकपा के प्रचार अभियान का नेतृत्व करते हुए राज्य में करीब 50 रैलियों को संबोधित किया। दूसरे वामपंथी दलों से भी माणिक सरकार को इन चुनावों में समर्थन मिल रहा है।


भारतीय जनता पार्टी पूरे दमखम से इस चुनाव में सत्तारुढ़ वामदल को टक्कर देने के मकसद से उतरी है। स्वयं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राज्य में चुनावी सभा करते देखे गए। पीएम मोदी ने राज्य में चार रैलियों को संबोधित किया। पीएम की रैलियों के साथ ही बीजेपी ने पूरे राज्य में जमकर प्रचार किया है। पीएम मोदी के साथ ही यहां पर बीजेपी के कद्दावर नेता जैसे राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, अरुण जेटली, नितिन गडकरी और स्मृति ईरानी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जैसों ने चुनाव प्रचार की कमान संभाली।


राज्य के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस का प्रचार अभियान बीजेपी से काफी हल्का दिखा। यहां कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मात्र एक रैली को संबोधित किया। राहुल गांधी प्रचार के आखिरी दिन उनाकोटी जिले के कैलाशहर में एक रैली को संबोधित करने पहुंचे थे। इस रैली में उन्होंने पीएम मोदी और बीजेपी पर जमकर निशाना साधा था।