जनता कर्फ्यू पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नाराज हो गए हैं क्योंकि कई लोगों ने इसें उत्सव बना दिया। जी हां, कोरोना के मद्देजनर लॉकडाउन की अपील के बावूजद रविवार को कुछ लोगों गंभीरता नहीं दिखाई और बेपरवाह होकर वो करते दिखे जिनसे बचने की सलाह दी गई थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों की इस बेपरवाही पर नाराजगी जाहिर की है। मोदी ने सोमवार सुबह ट्वीट कर अपनी इस नाराजगी का इजहार किया।
मोदी ने ट्विट पर लिखा कि कोरोना को लेकर किए गए लॉकडाउन के बावजूद अभी भी कुछ लोगों हैं, जो इसे गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। मोदी ने लिखा, 'लॉकडाउन को अभी भी कई लोग गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। कृपया करके अपने आप को बचाएं, अपने परिवार को बचाएं, निर्देशों का गंभीरता से पालन करें।' मोदी ने इस इसके साथ ही राज्य सरकारों को निर्देश दिया है कि वो लॉकडाउन के नियमों और कानून का पालन करवाएं।

जनता कर्फ्यू से पहले पीएम मोदी ने लोगों से आग्रह किया था कि वह नियमों का पालन करें, लेकिन कई जगह लोगों ने लापरवाही बरती। अब कई जगहों पर 31 मार्च तक लॉकडाउन कर दिया गया है। ऐसे में केंद्र सरकार ने राज्यों को आदेश दिए हैं कि वह सख्ती के साथ कोरोना वायरस लॉकडाउन को लागू करवाएं और इसका उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई भी की जाए।

दरअसल, प्रधानमंत्री की अपील पर देशभर में लोगों ने रविवार को खुशी-खुशी 'जनता कर्फ्यू' लागू किया, लेकिन कुछ ऐसी भी तस्वीरें सामने आईं जिनमें लोगों की लापरवाही साफ-साफ झलक रही थी। देश के अलग-अलग इलाकों में कुछ लोग मनाही के बावजूद सड़कों पर उतरे, भीड़ लगाई और जमात बनाकर साथ रहे। ऐसे लोगों की तादाद बहुत कम थी, फिर भी उनकी लापरवाही को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है क्योंकि कोरोना के संक्रमण की दर बहुत ऊंची होती है।