एक तरफ यूरोप में इस समय रूस और यूक्रेन के बीच भीषण युद्ध चल रहा है जिसकी चर्चा चारों तरफ है। इस युद्ध के शुरू होते ही यूक्रेन ने भारत से मदद मांगी थी, लेकिन अभी तक इसको लेकर कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया है। ऐसा इसलिए भी हो सकता है क्योंकि भारत हमेशा से रूस का मित्र रह है। लेकिन इसी बीच PM मोदी ने एक चौंकाने वाला काम कर दिया जिसकी हर तरफ तारीफ हो रही है। 

दरअसल, आज मन की बात में PM मोदी का संबोधन हुआ। Mann Ki Baat कार्यक्रम के जरिए देशवासियों को संबोधित किया। PM Modi ने कहा कि हम इटली से भारत की बहुमूल्य धरोहर लाए हैं। पीएम ने कहा कि आज ‘मन की बात’ की शुरुआत हम, भारत की सफलता के जिक्र के साथ करेंगे। इस महीने की शुरुआत में भारत, इटली से अपनी एक बहुमूल्य धरोहर को लाने में सफल हुआ है। ये धरोहर है, अवलोकितेश्वर पद्मपाणि की हजार साल से भी ज्यादा पुरानी प्रतिमा। ये मूर्ति कुछ वर्ष पहले बिहार में गया जी के देवी स्थान कुंडलपुर मंदिर से चोरी हो गई थी। लेकिन अनेक प्रयासों के बाद अब भारत को ये प्रतिमा वापस मिल गई है।

यह भी पढ़ें : शाकाहारी और मांसाहारी दोनों की खास पसंद है गुंडरूक, स्वाद ऐसा है कि चखते ही दीवाने हो जाते हैं लोग

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि ऐसे ही कुछ वर्ष पहले तमिलनाडु के वेल्लूर से भगवान आंजनेय्यर, हनुमान जी की प्रतिमा चोरी हो गई थी। हनुमान जी की ये मूर्ति भी 600-700 साल पुरानी थी। इस महीने की शुरुआत में, ऑस्ट्रेलिया में हमें ये मिली। हजारों वर्षों के हमारे इतिहास में, देश के कोने-कोने में एक-से-बढ़कर एक मूर्तियां हमेशा बनती रहीं, इसमें श्रद्धा भी थी, सामर्थ्य भी था, कौशल्य भी था और विवधताओं से भरा हुआ था और हमारे हर मूर्तियों के इतिहास में तत्कालीन समय का प्रभाव भी नजर आता है।

उन्होंने कहा कि साल 2013 तक करीब-करीब 13 प्रतिमाएं भारत आई थीं। लेकिन, पिछले सात साल में 200 से ज्यादा बहुमूल्य प्रतिमाओं को, भारत, सफलता के साथ वापस ला चुका है। अमेरिका, ब्रिटेन, हॉलैंड, फ्रांस, कनाडा, जर्मनी, सिंगापुर, ऐसे कितने ही देशों ने भारत की इस भावना को समझा है और मूर्तियां वापस लाने में हमारी मदद की है।

पीएम मोदी ने कहा कि भारतीय संगीत का जादू ही कुछ ऐसा है, जो सबको मोह लेता है। मुझे याद है, कुछ वर्ष पहले दुनिया के डेढ़ सौ से ज्यादा देशों के गायकों-संगीतकारों ने अपने-अपने देश में, अपनी-अपनी वेशभूषा में पूज्य बापू का प्रिय, महात्मा गांधी का प्रिय भजन, वैष्णव जन गाने का सफल प्रयोग किया था।

यह भी पढ़ें : सिक्किम में बिना तेल के बनाया जाता है लजीज फग्शापा मीट, पूरी दुनिया में मशहूर है ये होटल

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारतीय संस्कृति और अपनी धरोहर की बात करते हुए मैं आज आपको मन की बात में दो लोगों से मिलवाना चाहता हूं। इन दिनों फेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम पर तंजानिया के दो भाई-बहन किलि पॉल और उनकी बहन नीमा, ये बहुत चर्चा में हैं और मुझे पक्का भरोसा है आपने भी उनके बारे में जरूर सुना होगा। उनके अंदर भारतीय संगीत को लेकर एक जुनून है। एक दीवानगी है और इसी वजह से वे काफी लोकप्रिय भी हैं। लिप सिंक के उनके तरीके से पता चलता है कि इसके लिए वे कितनी ज्यादा मेहनत करते हैं।