देश में कोविड-19 ने तबाही का माहोल बना रखा है। दुनिया के हर देश इस महामारी से लड़ने के लिए कई प्रयास कर रहे हैं। बता दें कि देश में इस बीमारी से मरने वालों की संख्या 29 हो गई है। सारी दुनिया की बात करते हैं तो अभी तक 33000 से ज्यादा लोगों की मौतें हो गई है। लोगों में इसकी दहशत बनी हुई है इसी बीच कोरोना वायरस को लेकर कुछ जो भ्रम भी फैलाये जा रहे हैं, जैसे कि भारत में कोरोना तीसरे चरण यानी कम्युनिटी ट्रांसमिशन स्टेज पर पहुंच गया है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने साफ कह दिया है कि कोरोना भारत में अभी लोकल ट्रांसमिशन स्टेज यानी दूसरे चरण में ही है। अभी यह तीसरे चरण यानी कम्युनिटी ट्रांसमिशन स्टेज में नहीं पहुंचा है। अगर हालात कंट्रोल में नहीं रहे तो जरूर पहुंच सकता है लेकिन लोगों इस तरह के भ्रम से और ज्यादा दिक्कतों की सामना करना पड़ेगा। जानकारी के लिए बता दें -

पहला चरण

पहले चरण में कोरोना संक्रमण सिर्फ उन लोगों में पाया जाता है जो प्रभावित देशों में रहकर अन्‍य जगहों पर यात्रा करके आते हैं। इस स्तपर पर कोरोना पर नियंत्रण पाना आसान होता है।

दूसरा चरण

कोरोना का दूसरा चरण लोकल ट्रांसमिशन स्टेज कहलाता है जो कि अभी भारत में हैं। इस चरण में संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से उसके परिजन, रिश्तेदार या दोस्तों में संक्रमण होने लगता है जिससे पता लगाना काफी आसान होता है और इसे नियंत्रण किया जा सकता है। 

तीसरा चरण

कोरोना का तीसरा चरण कम्युनिटी ट्रांसमिशन स्टेज कहलाता है। इटली, स्पेन और अमेरीका जैसे देश इसी स्टेटज से गुजर रहे हैं। इस स्टेज में कोई ऐसा व्यक्ति भी संक्रमित हो सकता है जो न तो कोरोना वायरस से प्रभावित देश से लौटा है और न ही वह किसी दूसरे कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आया हो। इस स्थिति को नियंत्रण करना काफी मुश्किल होता है।

चौथा चरण

यह स्टेणज सबसे खतरनाक महामारी रूप ले लेता है जो कि सारी दुनिया के लिए सबसे खतरनाक होता है। बता दें कि चीन इस चरण से गुजर चुका है ऐसी स्थिति में संक्रमण रोकना काफी कठिन होता है।