पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान एवं आईपीएल फ्रेंचाइजी दिल्ली कैपिटल्स के मुख्य कोच रिकी पोंटिंग ने कहा है कि ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को सितंबर-अक्टूबर में संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में पुनर्निर्धारित आईपीएल 2021 में खेलना चाहिए। इससे उन्हें इस साल के अंत में आईसीसी टी-20 विश्व कप के लिए बेहतर तैयारी करने में मदद मिलेगी। 

उल्लेखनीय है कि ऑस्ट्रेलियाई टीम हाल ही में वेस्ट इंडीज और बंगलादेश के खिलाफ घर से बाहर धीमी परिस्थितियों में खेली गई टी-20 सीरीज में 4-1 से हार गई थी। इन दौरों पर पैट कमस, डेविड वार्नर, ग्लेन मैक्सवेल, स्टीव स्मिथ, मार्कस स्टॉयनिस, झाई रिचर्डसन, केन रिचर्डसन और डेनियल सैम्स जैसे पहली पसंद के खिलाड़ियों की गैर मौजूदगी देखी गई। इस पर पूर्व कप्तान ने कहा कि इन सीरीजों के परिणाम ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट में गहराई की मौजूदा कमी को रेखांकित करते हैं। 

पोंटिंग ने कहा कि टी-20 विश्व कप और एशेज सीरीज से पहले खिलाड़यिों के लिए एक्शन में वापस आना बेहद जरूरी है। पोंटिंग ने शनिवार को ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम के कप्तान टिम पेन से बातचीत में कहा, 'कुछ प्रमुख खिलाड़ी तीन या चार महीने से नहीं खेले हैं। उन्हें दुनिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों के खिलाफ उच्च गुणवत्ता वाले क्रिकेट खेलने के लिए वापस आने की जरूरत है। इसमें कोई संदेह नहीं है कि दुनिया के सबसे मजबूत घरेलू टी-20 टूर्नामेंट आईपीएल में खेलने से उनकी आगामी टी-20 विश्व कप के लिए सबसे अच्छी तैयारी होगी, क्योंकि उनके लिए परिस्थितियां बिल्कुल सटीक होंगी। 

आईपीएल के बाद टी-20 विश्व भी यूएई में होना है। यहां दुनिया के सभी बेहतरीन खिलाड़ी होंगे और मैं ऐसा सिर्फ इसलिए नहीं कह रहा हूं, क्योंकि मुझे दिल्ली कैपिटल्स में कुछ ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी चाहिए। बाईं कोहनी की चोट के कारण वेस्ट इंडीज और बंगलादेश दौरों से चूके स्टीव स्मिथ हालांकि पहले ही एक बयान में यह स्पष्ट कर दिया था कि वह टी-20 विश्व कप के बजाय एशेज को प्राथमिकता देंगे।