यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 19 अगस्त को लखनऊ के अटल बिहारी वाजपेयी इकाना स्टेडियम में खिलाड़ियों का कुंभ आयोजित करने की घोषणा की है। इस खिलाड़ी कुंभ में टोक्यो ओलंपिक के सभी पदक वीरों के साथ ही सभी प्रतिभागियों को सरकार बतौर प्रोत्साहन पुरस्कृत सम्मानित करेगी। इस आयोजन में खेलों के कोचों को भी सम्मानित किया जाएगा। साथ राज्य के सभी 75 जिलों से 75-75 खिलाड़ियों को भी इसमें विशेष तौर पर आमंत्रित किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा है कि सरकार अपने पूरे संसाधनों के साथ खिलाड़ियों के साथ है। जहां जिस तरह के संसाधन व प्रोत्साहन की आवश्यकता होगी, सरकार मुहैया कराएगी।

मुख्यमंत्री योगी शुक्रवार को गोरखनाथ मंदिर के ब्रह्मलीन महंत दिग्विजयनाथ स्मृति सभागार में मंदिर व पूर्वांचल खेल विकास मंच के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित खिलाड़ियों के सम्मान समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रयास से टोक्यो ओलंपिक में भारत के अबतक के सबसे बड़े खिलाड़ी दल ने प्रतिभाग किया कोरोनाकाल की प्रतिकूल परिस्थितियों में भी अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाते हुए सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। इस बार भारतीय दल ने ओलंपिक में अबतक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। मुख्यमंत्री ने देश मे खेल उन्नयन के लिए पीएम मोदी के खेलो इंडिया मुहिम की प्रशंसा की खिलाड़ियों के प्रोत्साहन के लिए जनप्रतिनिधियों, उद्यमियों व समाज के सभी लोगों से आगे आने की अपील की।

योगी ने कहा कि देश के लिए ओलंपिक में स्वर्ण पदक विजेता को यूपी सरकार दो करोड़ रुपये की धनराशि सम्मान स्वरूप देगी। रजत पदक विजेताओं को डेढ़-डेढ़ करोड़, कांस्य पदक विजेताओं को एक-एक करोड़ रुपये दिए जाएंगे। कांस्य पदक जीतने वाली पुरूष हॉकी टीम के सभी सदस्यों को एक-एक करोड़ रुपये तथा अबतक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाली महिला हॉकी टीम के सदस्यों को 50-50 लाख रुपये का पुरस्कार दिया जाएगा। ओलंपिक में शामिल प्रदेश के सभी खिलाड़ियों को सम्मान स्वरूप अलग से धनराशि भी दी जाएगी। खिलाड़ियों की सम्मानित करने का यह आयोजन 19 अगस्त को अटल बिहारी वाजपेयी इकाना स्टेडियम लखनऊ में होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि 2017 में सरकार बनाने के साथ ही हमने ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने पर यूपी के खिलाड़ियों को 6 करोड़, रजत जीतने पर 3 करोड़ कांस्य पदक जीतने पर 1 करोड़ रुपये देने का निर्णय लिया था। प्रतिभाग करने वालों को धनराशि देने का प्रावधान किया। एशियाड व राष्ट्रमंडल खेलों के लिए भी धनराशि से सम्मानित करने की व्यवस्था बनाई।

कुछ खिलाड़ियों द्वारा खेलों के प्रशिक्षण बहाल करने के अनुरोध पर सीएम योगी ने कहा कि सरकार जल्द खेलों का प्रशिक्षण फिर से शुरू करने जा रही है। इसके लिए आदेश दे दिए गए हैं। साथ ही खेल प्रशिक्षकों को अच्छे मानदेय पर बहाल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि चुनौती से ही रास्ता निकालना पड़ता है, आपदा में ही श्रेष्ठ करने का अवसर तलाशना पड़ता है खिलाड़ी इसके सर्व उदाहरण होते हैं।

कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में गुरु गोरक्षनाथ विश्वविद्यालय के कुलपति मेजर जनरल डॉ अतुल वाजपेयी, हॉकी की पूर्व ओलंपियन, अर्जुन अवार्डी व रानी लक्ष्मीबाई पुरस्कार से सम्मानित प्रेममाया, रानी लक्ष्मीबाई पुरस्कार से सम्मानित हॉकी की पूर्व अंतरराष्ट्रीय, ओलंपिक खिलाड़ी रंजना श्रीवास्तव, हॉकी की अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी ओलंपियन प्रीति दुबे की उपस्थिति रही। इन तीनों अंतरराष्ट्रीय महिला हॉकी खिलाड़ियों को मुख्यमंत्री ने अंगवस्त्र प्रदान कर सम्मानित किया। समारोह में स्वागत संबोधन अंतरराष्ट्रीय पहलवान व पूर्वांचल खेल विकास मंच के अध्यक्ष दिनेश सिंह ने किया। समारोह में मुख्यमंत्री ने 20 खिलाड़ियों को अपने हाथों से सम्मानित किया जबकि 55 का सम्मान मंच पर विशिष्ट अतिथियों द्वारा किया गया।