उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में रहने वाली एक वेजिटेरियन महिला को एक अमेरिकी पिज्जा कंपनी ने गलती से नॉनवेज पिज्जा की डिलिवरी कर दी और हंगामा खड़ा हो गया। शाहकारी महिला ने कंपनी के खिलाफ उपभोक्ता अदालत का दरवाजा खटखटाया है। हैरानी की बात तो यह है कि शाहाकारी महिला ने पिज्जा कंपनी से 1 करोड़ रुपए के मुआवजे की मांग की है।  शाहकारी महिला का नाम दीपाली त्यागी है।

दीपाली त्यागी का कहना है कि वह अपनी "धार्मिक मान्यताओं, शिक्षाओं, पारिवारिक परंपराओं, खुद के विवेक और अपनी पसंद" के कारण शुद्ध शाकाहारी हैं। दीपाली ने याचिका में कहा है, ''मैंने 21 मार्च, 2019 को पिज्जा आउटलेट से शाकाहारी पिज्जा के लिए ऑर्डर दी थी। उस दिन होली का दिन था। पिज्जा का एक टुकड़ा जैसे ही मैंने खाया तो मुझे महसूस किया कि यह एक मांसाहारी पिज्जा है। पिज्जा में मशरूम के बजाय मांस के टुकड़े थे।''

वकील फरहत वारसी ने उपभोक्ता अदालत को बताया कि दीपाली ने तुरंत कस्टमर केयर पर फोन किया और उनकी इस लापरवाही की शिकायत की। दीपाली ने बताया कि जिसने पिज्जा डिलिवर किया था उस डिलीवर बॉय ने दिपाली को फोन किया और पूरे परिवार को नि: शुल्क पिज्जा की सेवा देने का प्रस्ताव दिया लेकिन दीपाली ने इनकार कर दिया और कहा कि यह कोई साधारण मामला नहीं है। दीपाली ने कहा कि "कंपनी ने उसकी आत्मा को उसके पूरे जीवन के लिए मानसिक पीड़ा देते हुए घायल कर दिया है। "