नौसेना का एक प्रशिक्षु मिग-29 लड़ाकू विमान गुरूवार शाम को अरब सागर के उपर दुर्घटनाग्रस्त हो गया। विमान के एक पायलट को बचा लिया गया है, जबकि दूसरे का पता लगाने के लिए अभियान चलाया जा रहा है। 

नौसेना के प्रवक्ता ने आज यहां बताया कि यह विमान उस समय दुर्घटनाग्रस्त हुआ जब यह गोवा के निकट अरब सागर के उपर उड़ रहा था। उन्होंने कहा कि एक पायलट को शुक्रवार सुबह बचा लिया गया है जबकि दूसरे का पता लगाने के लिए हेलिकॉप्टरों और युद्धपोतों से अभियान शुरू किया गया है। हादसे के कारणों की जांच के आदेश दिये गये हैं। 

पिछले एक वर्ष में मिग-29 के विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने की यह तीसरी घटना है। इससे पहले पिछले वर्ष 16 नवम्बर और गत 23 फरवरी को भी मिग -29 के विमान दुर्घटनाग्रस्त हुआ था। नौसेना के बेड़े में 40 मिग 29 के लड़ाकू विमान हैं। दो इंजन वाले मिग 29 रूस में निर्मित हैं और ये विमान नौसेना के हंसा नौसैनिक अड्डे पर तैनात हैं। इनमें से कुछ विमान नौसेना के विमानवाहक पोत आईएनएस विक्रमादित्य पर भी तैनात हैं। मिग -29 विमानों ने हाल ही में अमेरिका, जापान और आस्ट्रेलिया के साथ संपन्न हुए मालाबार समुद्री अभ्यास में भी हिस्सा लिया था। इन विमानों ने विक्रमादित्य से उडान भी भरी थी।