आज गुरुवार को पेट्रोल-डीजल की कीमतों लेकर राहतभरी खबर है। क्योंकि तीन दिनों बाद पेट्रोल-डीजल के दामों में कोई बदलाव नहीं हुआ है। विधानसभा चुनाव के नतीजे आए 10 दिन हो गए। 2 मई के बाद इन दस दिनों में सात बार तेल के भाव बढ़े। इन सात दिनों में पेट्रोल 1.66 रुपए और डीजल 1.88 रुपए प्रति लीटर महंगा हो गया।

देश की राजधानी दिल्ली में आज पेट्रोल की कीमत 92.05 रुपए और डीजल 82.61 रुपए प्रति लीटर है। मुंबई में पेट्रोल 98.36 रुपए और डीजल 89.75 रुपए प्रति लीटर बिक रहा है। वहीं चेन्नई में पेट्रोल 93.84 रुपए और डीजल 87.49 रुपए प्रति लीटर डीजल है। कोलकाता में क्रमश: 92.16 रुपए और डीजल 85.45 रुपए प्रति लीटर पर है।

पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बुधवार को 25 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई थी, जिसके साथ ही भोपाल और इंदौर सहित कई और शहरों में पेट्रोल के दाम 100 रुपए प्रति लीटर के स्तर को पार कर गया है। मूल्य वृद्धि के कारण राजस्थान, मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र के कई शहरों में पेट्रोल 100 रुपये प्रति लीटर के स्तर को पार कर गया।
वैट और मालभाड़े जैसे स्थानीय करों के आधार पर विभिन्न राज्यों में ईंधन की कीमत अलग-अलग होती हैं। देश में राजस्थान पेट्रोल पर सबसे अधिक मूल्य वर्धित कर (वैट) वसूलता है, इसके बाद मध्य प्रदेश का स्थान है।

देश में कोविड की दूसरी लहर से निपटने के लिए कई राज्यों में लागू लॉकडाउन के चलते अप्रैल में तेल बिक्री 9.4 प्रतिशत घट गई। अप्रैल में तेल की खपत 9.38 प्रतिशत घटकर 1.71 करोड़ टन रह गई, जबकि मार्च में यह 1.87 करोड़ टन थी। देश में अप्रैल 2020 में कोराना संक्रमण के कारण राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन लगाया गया था, जिसके चलते सभी आर्थिक गतिविधियां ठप पड़ गई । इस दौरान ईंधन की खपत 2006 के बाद सबसे निचले स्तर पर पहुंच गई थी। अप्रैल 2020 की तुलना में इस बार हालांकि ईंधन की खपत 81.5 बढ़ी है।