कच्चे तेल का बाजार कुछ नरम हुआ है। दरअसल, अमेरिका में इसी सप्ताह आए तेज विंटर स्टोर्म की वजह से टैक्सास में कच्चे तेल का प्रोडक्शन जो प्रभावित हुआ था, वह धीरे धीरे सामान्य हो चला है। इसलिए इस सप्ताहांत कच्चे तेल के अंतर्राष्ट्रीय बाजार में नरमी दिखी। लंदन एक्सचेंज में इस सप्ताह कारोबार की समाप्ती पर कच्चे तेल के दाम में फिर उल्लेखनीय कमी दिखी और ब्रेंट क्रूड का दाम 63 डॉलर प्रति बैरल से नीचे पहुंच गया।

इधर, घरेलू बाजार में लगातार 12 दिनों तक पेट्रोल और डीजल में भारी बढ़ोतरी के आद आज शांति रही। इससे एक दिन पहले ही दिल्ली में पेट्रोल 39 पैसे प्रति लीटर चढ़ कर 90.58 रुपये पर चला गया था। डीजल भी 37 पैसे का छलांग लगा कर 80.97 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया था। इस समय लगभग हर शहरों में दोनों ईधनों के दाम ऑल टाइम हाई पर चल रहे हैं।

पिछले 12 दिनों से घरेलू बाजार में जो रोज ही पेट्रोल के दाम में बढ़ोतरी हो रही है, उससे यह 03.28 रुपये महंगा हो गया है। मुंबई में तो पेट्रोल 97.00 रुपये पर पहुंच गया है, जो कि मेट्रो शहरों में सबसे ज्यादा है। भोपाल में एक्सपी पेट्रोल 101.51 रुपये पर बिक रहा है। इसके साथ ही लगभग सभी शहरों में पेट्रोल All Time High Price पर चला गया है। सिर्फ इस साल जनवरी और फरवरी की बात करें तो इतने दिनों मे ही पेट्रोल 6.77 रुपये महंगा हो चुका है।