पाकिस्तान के कराची से एक ऐसा मामला सामने आया है जो सबको चौंकाने वाला है। यहां 2 पालतू कुत्तों को मौत की सजा सुनाई गई है। यह सजा इसलिए दी गई क्योंकि दोनों कुत्तों ने एक वरिष्ठ वकील पर हमला किया और उन्हें घायल कर दिया।

यह मामला कराची का है, यहां के एक पॉश इलाके में सुबह की सैर के दौरान एक वरिष्ठ वकील पर अचानक दो कुत्तों ने हमला कर दिया। वकील का नाम मिर्जा अख्तर है और ये दोनों कुत्ते जर्मन शेपर्ड्स हैं। घटना के बाद कुत्तों के मालिक हुमायूं खान ने अख्तर से माफी मांगी थी।

रिपोर्ट में बताया गया है कि दोषी पाए गए दोनों पालतू कुत्तों को दी गई मौत की सजा वकील और पालतू जानवर के मालिक के बीच हुए एक आउट-ऑफ-कोर्ट समझौते का हिस्सा है। वकीन ने बताया कि दोनों कुत्तों ने बिना किसी उकसावे के उन पर बेरहमी से हमला किया और उन्हें घायल कर दिया।

जानकारी के मुताबिक, यह समझौता विवाद को सुलझाने के लिए वकील और कुत्ते के मालिक के बीच हुआ है। वकील मिर्जा अख्तर कुत्तों के मालिक हुमायूं खान को कुछ शर्तों पर माफ करने के लिए सहमत हुए हैं।

इस घटना का सीसीटीवी फुटेज भी सामने आया है। वीडियो में दिख रहा है कि वकील जैसे ही घर के सामने से गुजरे, कुत्तों ने उनपर हमला कर दिया। शर्त में यह भी बताया गया है कि हुमायूं खान और उनका परिवार घर में पालतू जानवर के रूप में किसी भी खतरनाक या क्रूर कुत्ते को नहीं रखेंगे।

इसके बाद यह तय किया गया है दोनों कुत्तों को डॉक्टर मौत की नींद सुला देंगे। इसके अलावा कुत्ते के मालिक स्थानीय शेल्टर को 10 लाख रुपये भी देंगे। समझौते से पहले खान ने कोर्ट में जमानत की अर्जी दी थी। उनके दो कर्मचारियों को पुलिस ने हिरासत में रखा था।

इस घटना के सामने आने के बाद इस पर चर्चा भी होने लगी है। कुछ एनिमल वेलफेयर ग्रुप्स ने इसका विरोध किया है और इस समझौते को अमानवीय बता रहे हैं। उनका कहना है कि हैंडलर की लापरवाही की सजा बेजुबान जानवरों को क्यों दी जा रही है?
फिलहाल इस घटना का वीडियो कई लोगों ने शेयर किया है। फुटेज में दिख रहा है कि किसी तरह कुत्तों को काबू में किया गया।