जदयू के मुख्य प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा है कि पति-पत्नी के 15 वर्षों के शासन में बिहार के लोग इतने निराश हो चुके थे कि तब किसी ने कल्पना नहीं की थी कि 15 सालों में बिहार इतना बदल जाएगा।  इतना अधिक काम हो जाएगा। 

 2005 तक बिहार सिर्फ अपने पिछड़ेपन, भ्रष्याचार, अपराध और अराजकता के लिए जाना जाता था. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सरकार ने न केवल इन सब नकारात्मक चीजों पर अंकुश लगाने का काम किया। 

 इसके साथ हर घर बिजली, गांव- गांव में सड़क, गलियों - नालियों के पक्कीकरण, सभी पंचायतों में 10वीं तक की पढ़ाई की व्यवस्था की गई।  लड़कियों और फिर लड़कों के लिए फ्री साइकिल, पूरे राज्य में उच्च एवं व्यावसायिक शिक्षा के गुणवत्तापूर्ण संस्थानों की स्थापना, पंचायत से लेकर जिला और राज्य स्तर तक के अस्पतालों में इलाज की उचित व्यवस्था और राज्य के हरित आवरण को बढ़ाकर पर्यावरण को बेहतर किया है।  

संजय सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पंचायती राज में महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण व शराबबंदी के अलावा दहेज प्रथा और बाल विवाह पर रोक जैसे कदमों से बिहार में सामाजिक सुधार की उल्लेखनीय पहल की है।