नवरात्रि के व्रत में अक्सर लोग शाकाहार के तौर पर कुट्टू के आटे का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन नवरात्रि के पहले दिन ही एक ऐसी खबर आई जिसको जनकर हर किसी के कान खड़े हो गए। यह वाकया दिल्ली के कल्याणपुरी इलाके का है जहां कुट्टू का आटा खाने के बाद करीब 400 लोग बीमार पड़ गए। इन लोगों को पेट दर्द और उल्टी की शिकायत होने के बाद लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल में भर्ती कराया गया। गनीमत यह रही कि घटना में किसी की जान नहीं गई।

खबर है कि रात तकरीबन 11:00 बजे के आसपास दिल्ली के कल्याणपुरी और त्रिलोकपुरी में रहने वाले लोगों की अचानक से तबीयत बिगड़ने लगी। लोगों को घबराहट होने लगी और उल्टी आने लगी और वो बेहोश होने लगे। आनन-फानन में परिवार और आसपास के लोग इन लोगों को लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल लेकर गए जहां पर इनका इलाज किया गया। जब डॉक्टर ने इन लोगों से पूछा कि खाने में क्या खाया था तो पता चला कि कुट्टू का आटा खाया था। जिसके बाद से ही उनकी तबीयत अचानक से बिगड़ने लगी घबराहट होने लगी। डॉक्‍टरों ने इसे फूड प्‍वाइजनिंग का केस बताया।

डॉक्टरों के अनुसार मिलावटी आटा खाने के बाद ज्‍यादातर लोगों को उल्‍टी, दस्‍त शुरू हो गए और पेट में भयंकर दर्द उठा। जिसके बाद सभी को अस्‍पताल ले जाया गया। बीमार हुए लोगों में से किसी की भी हालत ज्यादा गंभीर नहीं है।

हालांकि इस मामले में दिल्ली पुलिस को अभी तक कोई शिकायत नहीं मिली है,  पुलिस का कहना है कि मामला सामने आने के बाद यह जांच की जाएगी। आखिरकार इन लोगों ने कूटू का आटा किस मिल से लिया है और उसका मालिक कौन है। फिलहाल सभी मरीज खतरे से बाहर बताए जा रहे हैं।

हालांकि ऐसा पहली बार नहीं है कि कुट्टू का आटा खाने से लोगों की तबीयत खराब हो गई है। इससे पहले साल 2011 में दिल्ली में कुट्टू का आटा खाने से तकरीबन 200 लोग बीमार हो गए थे।