नशीले पदार्थों को खुलेआम नहीं बेचा जाता है और कुछ लोग होते हैं जो इसे बिजनेस का एक बड़ा सा जाल बिछा रखा है। इसी तरह से मुबंई में तीन लोग मिलकर भांग और गांजे से  बने केक और पेस्ट्री लोगों को खिला रहे थे। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) मुंबई में ड्रग्स को लेकर छापेमारी की तो इस दुकान का खुलासा हुआ। मुंबई के मलाड इलाके का एक बेकरी केक और पेस्ट्री में ड्रग्स मिलाकर बेच रहा था।


NCB के मुताबिक, बेकरी से जुड़े 3 लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है। NCB की टीम ने छापा मारकर मौके से 830 ग्राम भांग से बने केक और 35 ग्राम गांजा जब्त किया है। बता दें कि इस तरह से ड्रग्स बेचने के का मामला भारत में पहला है। जिसमें नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो द्वारा भांग आधारित खाद्य उत्पादों को जब्त किया गया है। जगत चौरसिया नाम का एक शख्स बेकरी में ड्रग्स की सप्लाई करता था, जिससे बांद्रा में अरेस्ट कर लिया है।

नारकोटिक ड्रग्स एंड साइकोट्रोपिक सबस्टेंस एक्ट, 1985 की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। NCB अधिकारियों के मुताबिक युवाओं में भांग वाले केक और ब्राउनी खाने का नया चलन शुरू हो गया है। जो कि बच्चों के लिए सबसे ज्यादा खतरनाक साबित हो सकता है। गांजा के बजाय भांग वाले केक युवाओं को खासा पसंद आ रहे हैं।